संवाद सहयोगी, पिलखुवा:

गांधी रोड सड़क का निर्माण पीडब्ल्यूडी के लिए जी का जंजाल बन गया है। हाल ही में सड़क को दुरूस्त किया गया था, लेकिन सड़क के नीचे किसी स्थान पर पानी की लाइन के लीकेज होने के कारण अब फिर से सड़क को तोड़ा जा रहा है और दोबारा से निर्माण कराया जाएगा। बार-बार निर्माण होने के कारण लोगों को आवाजाही में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

नगर पालिका परिषद क्षेत्र में स्थित गांधी रोड और रेलवे रोड चौड़ीकरण के साथ सड़क का निर्माण पीडब्ल्यूडी ने कराया है। यह निर्माण कार्य एक करोड़ 20 लाख रुपये लागत से पूरा होना है। पालिका अब तक पीडब्ल्यूडी को 1.7 करोड़ का भुगतान कर चुकी है। गांधी रोड का निर्माण कार्य लगभग पूरा हो चुका है। लेकिन, मंगलवार की रात अचानक नवनिर्मित सड़क धसने लगी। शिकायत मिलने पर पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर निरीक्षण किया। पता चला कि सड़क के नीचे किसी स्थान पर पानी की लाइन लीकेज हो गई है। इस कारण सड़क धस रही है। बृहस्पतिवार को नवनिर्मित सड़क को जेसीबी के माध्यम से तोड़ा गया। पीडब्ल्यूडी के ठेकेदार विपिन चौधरी का कहना है कि पानी की लाइन लीकेज होने से समस्या हुई है। सड़क का पुन: निर्माण कराया जाएगा। दूसरी ओर, क्षेत्रवासियों का आरोप है कि सड़क निर्माण में खानापूर्ति बरती गई है। रातोंरात नाममात्र निर्माण सामग्री डालकर केवल सड़क को काली कर दी गई। क्षेत्रवासियों ने जिलाधिकारी से तकनीकि विभाग के अधिकारियों के साथ मौके पर जांच कराने की मांग की है।

Edited By: Jagran