संवाद सहयोगी, पिलखुवा : राष्ट्रीय राजमार्ग-9 (पहले एनएच 24) स्थित मसूरी से हापुड़ बाईपास तक जगह-जगह बस स्टॉप बनाने का कार्य शुरू हो गया हैं। लगभग 22 किमी के दायरे में चौदह स्थानों पर बस स्टॉप बनाए जाएंगे। प्रस्तावित बस स्टॉप में से पांच स्टॉप का निर्माण किया जा चुका है। प्रकाश व्यवस्था का कार्य शेष है। इसके अलावा राहगीरों की सुविधाओं के लिए एक्सप्रेस-वे से सटे गांवों के नाम लिखे संकेतक बोर्ड लगाए जाएंगे। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे तृतीय फेस के अंतर्गत गाजियाबाद जनपद के डासना से हापुड़ बाईपास तक सड़क को चौड़ा करने का कार्य अंतिम चरण में है। हापुड़ बाईपास से जिदल नगर तक 90 प्रतिशत निर्माण कार्य संपन्न हो चुका है। एलिवेटेड रोड का निर्माण कार्य भी मात्र पांच से दस प्रतिशत ही शेष है। बरसात का मौसम आने की संभावना के कारण निर्माणदायी संस्था चेतक इंटरप्राइजेज लिमिटेड के कर्मचारी दिन-रात निर्माण कार्य में लगे हैं। संभावना है कि इसी माह में निर्माण कार्य पूरा कर लिया जाएगा। जहां-जहां निर्माण कार्य पूरा हो चुका है, उन स्थानों पर यात्रियों को नियमानुसार दिए जाने वाली सुविधाएं उपलब्ध कराने का कार्य शुरू हो गया है। इस पूरे मार्ग पर चौदह बस स्टॉप का निर्माण किया जाएगा। हालांकि पौने पांच किमी लंबी एलिवेटेड एकड़ पर कोई बस स्टॉप नहीं होगा। धौलाना मार्ग और डूहरी पेट्रोल पंप के निकट बस स्टॉप बनाए जाएंगे।

---------

राष्ट्रीय राजमार्ग से जुड़े बड़े शहरों के नाम लिखे साइन बोर्ड लगा दिए गए हैं। गांवों के नाम लिखे बोर्ड तैयार किए जा रहे है। राष्ट्रीय राजमार्ग पर बनाए जाने वाले चौदह बस स्टॉप में से पांच स्टॉप का निर्माण पूरा हो चुका है। बस स्टॉप में बैंच रखने और प्रकाश व्यवस्था करने का कार्य एक साथ किया जाएगा।

--आर.पी. सिंह, परियोजना निदेशक, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण --इन स्थानों पर बनेंगे बस स्टॉप

डासना, मसूरी, गालंद, जिदल नगर, नया गांव, धौलाना मार्ग, निजामपुर, डूहरी, अनवरपुर, लाखन, छिजारसी टोल प्लाजा के निकट, रामा अस्पताल के निकट, मोनाड विश्वविद्यालय के निकट, रघुनाथपुर, हापुड़ बाईपास फ्लाई ओवर के निकट बस स्टॉप बनेंगे। इनमें नया गांव, अनवरपुर, धौलाना मार्ग, निजामपुर और गालंद में बस स्टॉप बन चुके हैं। इन बस स्टॉप में बैंच और प्रकाश व्यवस्था करने का कार्य शेष रह गया हैं। पंद्रह जुलाई तक निर्माण कार्य संपन्न करने का प्रयास किए जा रहे हैं। जिन स्थानों पर निर्माण पूरा हो चुका है, वहां अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराने का कार्य शुरू कर दिया गया है। एलिवेटेड सड़क का निर्माण लगभग पूरा हो चुका है।

--अशोक अंजना, जीएम निर्माण, निर्माणदायी संस्था चेतक इंटरप्राइजेज

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप