पिलखुवा, जागरण संवाददाता। हापुड़ नगर थानांतर्गत के मोहल्ला करीमपुरा में वारंटी को पकड़ने पहुंची पुलिस पर लोगों ने हमला कर दिया। गाली-गलौज और हाथापाई कर लोगों ने पुलिस की पकड़ से वारंटी को छुड़वाकर भगा दिया। हमले में दारोगा और एक सिपाही घायल हो गए।

चारों तरफ घिरा देख पुलिस कर्मियों को अपने को बचाना मुश्किल हो गया। किसी तरह पुलिस कर्मी अपनी जान बचाने में कामयाब हो पाए। मामले में वारंटी को छुड़वाने के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। छिजारसी चौकी प्रभारी मनीष चौहान ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि 24 जनवरी की रात उन्हाेंने पुलिस कर्मियों के साथ मिलकर हापुड़ नगर थानांतर्गत मोहल्ला करीमपुरा रामपुर रोड पर वारंटी शहजाद को गिरफ्तार करने के लिए दबिश दी थी। पुलिस को देख आरोपित शहजाद मकान की दीवार कूदकर फरार होने लगा।

पुलिस कर्मियों ने पीछा कर शहजाद को दबोच लिया। इसी बीच शहजाद जोर-जोर से चिल्लाने लगा। जिस पर आसपास के लोग एकत्रित हो गए। आरोपित के स्वजन और पड़ोसियों ने शहजाद को छुड़ाने के उद्देश्य से पुलिस कर्मियों पर हमला बोल दिया। गाली-गलौज और हाथापाई करते हुए आरोपित शहजाद को छुड़वाकर भगा दिया गया। बाद में पुलिस ने आवश्यक बल का प्रयोग कर तीन लोगों को पकड़ लिया।

गिरफ्तार आरोपितों में रिजवान, उस्मान और फुरकान है। जो अलीनगर और ईदगाह रोड के रहने वाले हैं। इसके अतिरिक्त मोहम्मद शहजाद, वसीम, सलीम, मोनिश सहित आठ लोग फरार हो गए। चौकी प्रभारी का कहना है कि हाथापाई के दौरान वह और सिपाही लाखन सिंह घायल हो गए है।

थाना प्रभारी निरीक्षक मुनीष प्रताप सिंह का कहना है कि मामले में गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है। आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए हापुड़ नगर थाना पुलिस से भी सहयोग मांगा गया है। जल्द ही फरार आरोपितों की गिरफ्तारी सुनिश्चित की जाएगी।

Edited By: Shyamji Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट