संवाद सहयोगी, गढ़मुक्तेश्वर:

नकली नोट के मामले में सपा नेता की जमानत की अर्जी पर सोमवार को सुनवाई होनी है। पुलिस को आरोपित से नकली नोट बरामद न होने पर परिजन को जमानत मंजूर होने की उम्मीद है। परिजन गोवा पहुंचकर वकीलों से सलाह मशविरा लेने में जुटे हैं।

गोवा के केसीनो में मेरठ के मांस व्यापारी पर 55 हजार रुपये के पांच सौ के नकली नोट मिलने पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था। उसके बयान के आधार पर गोवा पुलिस ने दस दिन पहले गांव दौताई में दबिश देकर लकड़ी और भट्ठा कारोबारी सपा नेता मुजम्मिल हयात को गिरफ्तार किया था। न्यायालय द्वारा पांच दिन का ट्रांजिट रिमांड दिए जाने पर गोवा पुलिस सपा नेता को पणजी ले गई थी। ट्रांजिट रिमांड की अवधि पूरी होने पर पुलिस ने पणजी के न्यायालय में प्रार्थना पत्र देकर पांच दिन का कस्टडी रिमांड बढ़वा लिया। नकली नोट मामले में मेरठ के कई लोगों से पूछताछ करने के बाद शनिवार को गोवा पुलिस पे गढ़ में भी कई लोगों से पूछताछ की थी। सपा नेता के परिजन ने न्यायालय में जमानत का आवेदन किया है। उस पर सोमवार को न्यायालय में सुनवाई होनी है। गोवा में मौजूद सपा नेता के परिजन ने बताया कि मेरठ के मांस कारोबारी मोहम्मद शादाब के बयान के आधार पर गोवा पुलिस मुजम्मिल हयात को पांच दिन के ट्रांजिट रिमांड पर ले गई थी, लेकिन पणजी कोर्ट से पांच दिनों का कस्टडी रिमांड मिलने के बाद भी गोवा पुलिस उनके कब्जे अथवा निशानदेही पर नकली नोट बरामद नहीं कर पाई है।

गोवा पुलिस के उपनिरीक्षक मुकेश कुमार का कहना है कि पणजी के केसीनो में नकली नोटों के साथ पकड़े गए मेरठ के मांस कारोबारी मोहम्मद शादाब ने पूछताछ में जिन लोगों के नाम बताए थे, उनमें मुजम्मिल हयात को मास्टर माइंड बताया गया था। इसलिए उसे कस्टडी रिमांड पर लेकर अन्य लोगों से भी पूछताछ की जा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस