जागरण संवाददाता, हापुड़:

अब ग्राम बझैड़ा कलां के ग्रामीणों को गांव में वाईफाई, बैं¨कग सेवा, चिकित्सक से परामर्श दिए जाने सहित कई आधुनिक सुविधाएं मिलेंगी। युवाओं को इंटरनेट की जानकारी देकर डिजिटल साक्षर बनाया जाएगा। केंद्र सरकार द्वारा इस गांव का चिह्नित किया गया है। कॉमन सर्विस सेंटर (सीएचसी) की टीम ने सर्वेक्षण पूरा कर कार्य शुरू करा दिया है। उम्मीद है कि मार्च में गांव डिजिटल हो जाएगा।

मोदी सरकार ने वर्ष 2015-16 में डिजिटल गांव योजना संचालित करने की घोषणा की थी। इस योजना के लिए धौलाना ब्लॉक का ग्राम बझैड़ा कलां को चुना गया था। इसके बाद से ही जनपद में सीएचसी की टीम ने इस योजना पर काम करना शुरू कर दिया था। अब इस योजना का काम लगभग पूरा होने वाला है। योजना का मुख्य उद्देश्य चयनित गांवों के युवाओं को डिजिटल तौर पर साक्षर बनाना है। इन गांवों के युवाओं को ऑप्टिकल फाइबर, वाईफाई एक्सेस प्वाइंट के रखरखाव को लेकर तकनीकि रूप से दक्ष किया जाएगा।

-------------

युवाओं को दिया जाएगा रोजगार परक प्रशिक्षण

डिजिटल गांव में युवाओं को बेसिक कंप्यूटर कोर्स के साथ-साथ ट्रिपल सी कंप्यूटर कोर्स का प्रशिक्षण, टेलीकोर्स, इलेक्ट्रिकल, ऑटोमोबाइल, मोबाइल रिपेय¨रग आदि का प्रशिक्षण देकर गांव में ही कार्य करने की व्यवस्था बनवाई जाएगी।

------------ गांव में लगेगी एलईडी बनाने की यूनिट

डिजिटल गांव में एलईडी बनाने की यूनिट लगवाई जाएगी, जिससे गांव के युवाओं को रोजगार मिल सकेगा। एलईडी लाइटों की गांव और आसपास के क्षेत्रों में बिक्री कराई जाएगी।

-------

कई कंपनियों का मिलेगा सामान

गांव में ही पतंजलि, सैमसंग, टीएनजी, ¨हदुस्तान लीवर आदि कंपनियों का सामान मिलेगा।

----------

क्या कहते हैं सीएचसी प्रभारी

ग्राम बझैड़ा कलां को बहुत ही जल्द डिजिटल गांव बनाया जाएगा। इसके लिए तेजी से कार्य किया जा रहा है। ग्रामीणों को काफी लाभ मिलेगी। मार्च तक कार्य पूरा कर दिया जाएगा। --मधुर गुप्ता, सीएचसी जिला प्रबंधक

-----------

क्या कहते हैं ग्रामीण

गांव के डिजीटल होने से ग्रामीणों को काफी लाभ मिलेगा। सरकार की यह अच्छी योजना है। --कन्हैया लाल शर्मा

गांव को डिजीटल बनाने के बारे में जानकारी मिली है, यह अच्छा कदम है। इससे गांव विकसित होगा। --आसिफ अली

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप