हापुड़, जेएनएन। जिले के बाबूगढ़ थाना क्षेत्र के एक गांव में सामूहिक दुष्कर्म नाबालिग पीड़िता पर आरोपित पक्ष के लोगों ने घर में घुसकर तेजाब से हमला कर दिया। पीड़िता का पैर बुरी तरह से झुलस गया। हमले का विरोध करने पर पीड़िता के माता-पिता व भाई को पीटकर घायल कर दिया। पुलिस ने पीड़िता और उसके घायल स्वजन को अस्पताल में भर्ती कराया। एएसपी और सीओ सिटी ने घटना स्थल का मुआयना किया एवं आसपास के लोगों से मामले की जानकारी ली। दुष्कर्म के मामले में सात फरवरी को न्यायालय में पीड़िता के बयान दर्ज होने हैं। आरोपित उस पर समझौते के लिए दबाव बना रहे थे।

पीड़िता के पिता ने बताया कि 16 जुलाई, 2019 को उसकी नाबालिग बेटी के साथ गांव के दो युवकों ने घर में घुसकर दुष्कर्म किया था। दोनों आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था, जिसमें एक आरोपित जेल में है। दूसरे आरोपित को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर सकी। दूसरे आरोपित के स्वजन लगातार पीड़ित पक्ष पर फैसले का दबाव बना रहे थे। आरोप है कि रविवार सुबह आरोपित पक्ष के आठ-दस लोग अवैध हथियार लेकर पीड़ित पक्ष के घर में घुस आए और हमला बोल दिया।

मारपीट में दुष्कर्म पीड़िता की मां, भाई और पिता गंभीर रूप से घायल हो गए। आरोपितों ने दुष्कर्म पीड़िता के ऊपर तेजाब फेंक दिया। गनीमत रही कि तेजाब पीड़िता के पैरों पर गिरा, जिससे उसका एक पैर बुरी तरह से झुलस गया। शोर सुनकर लोगों को जुटता देख आरोपित फरार हो गए। एएसपी सर्वेश कुमार मिश्रा व सीओ सिटी राजेश कुमार भी मौके पर पहुंचे। फॉरेंसिक टीम ने भी मौके से साक्ष्य जुटाए। अधिकारियों ने अस्पताल पहुंचकर पीड़िता से बातचीत कर उसका हाल जाना।

अपर पुलिस अधीक्षक सर्वेश कुमार मिश्रा ने बताया कि दोनों पक्षों के बीच पुरानी रंजिश है। विवाद कूड़ा डालने को लेकर हुआ है। पीड़िता व घायलों का उपचार चल रहा है। घटना से जुड़े सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर मामले की जांच की जा रही है। जांच में दोषी मिलने पर आरोपितों को गिरफ्तार किया जाएगा। सुरक्षा की दृष्टि से पीडि़ता के घर पुलिस को तैनात किया गया है। किसी भी हाल में पीड़िता व उसके स्वजन की सुरक्षा को लेकर लापरवाही नहीं बरती जाएगी।

Edited By: Umesh Tiwari