जागरण संवाददाता, महोबा : कबरई कस्बे में पेयजल आपूर्ति के लिए वाटर ट्रीटमेंट प्लांट से गायब मिले कर्मचारियों के खिलाफ जिलाधिकारी ने कार्रवाई की बात कही। उन्होंने डाहर्रा पेयजल टंकी की धीमी प्रगति पर नाराजगी जाहिर की तथा कार्यदायी संस्था यूपीपीसीएल के जेई प्रशांत कुमार को कड़ी फटकार लगाई। कहा कि निर्माण कार्य अविलंब पूरा किया जाय ताकि आसपास के लोगों को पेयजलापूर्ति की जा सके।

जिलाधिकारी अवधेश कुमार तिवारी ने सीडीओ हीरा सिंह तथा अभियंताओं की टीम के साथ डाहर्रा में खनिज न्यास निधि से निर्माणाधीन पानी की टंकी तथा कबरई बांध के वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान प्लांट में मात्र एक ऑपरेटर दशरथ सिंह उपस्थित पाए गए।उन्होंने इस दौरान सभी कर्मियों का ड्यूटी रजिस्टर देखा तथा अनुपस्थित और लापरवाह कर्मियों पर कार्रवाही की बात कही। निरीक्षण में उन्होंने ट्रीटमेंट प्लांट की लाइट व्यवस्था खराब पाई, तथा दो मोटर खराब पाए गए। इस पर भी नाराजगी जाहिर की। उन्होंने एक्सइएन जल संस्थान को निर्देशित किया कि वे स्वयं इसका निरीक्षण करें तथा वहां की साफ-सफाई व्यवस्था को सुधारें। इस दौरान एक्सईएन पीडब्ल्यूडी बीबी अग्रवाल, एक्सईएन जलनिगम सिविल संदेश सिंह तोमर एवं कैंप स्टेनो राजीव शुक्ला आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप