जागरण संवाददाता, महोबा :

सर्दी ने अपना भयंकर रूप दिखाना शुरू कर दिया है। जिले में पारा लुढ़कता जा रहा है। न्यूनतम तापमान तीन डिग्री सेल्सियस पर पहुंच चुका है। शीतलहरी के बीच गलन व कंपकंपी जिंदगी पर भारी पड़ रही है। ठंड के सितम के साथ मौतों का सिलसिला जारी है। बीते 24 घंटे में पांच और लोगों की ठंड से मौत हो गई। इसी के साथ इस माह ठंड से मौतों की संख्या 27 पहुंच चुकी है।

कृषि विज्ञान केंद्र बेलाताल के मौसम वैज्ञानिक मुकेश चंद्र अग्रवाल के अनुसार शनिवार को अधिकतम तापमान 13 व न्यूनतम 3 डिग्री सेल्सियस रहा। दिन भर शीतलहरी चलने से सूर्य की गर्मी भी लोगों को राहत नहीं दे सकी। कुलपहाड़ में नेताजी वार्ड निवासी शिक्षा विभाग में चतुर्थ श्रेणी कर्मी 42 वर्षीय स्वामी सैनी रात में खा खाकर लेटे। अचानक उसके सीने में दर्द हुआ और उसकी मौत हो गई। सुगिरा ग्राम निवासी 65 वर्षीय मुन्नीलाल सोनी व इसी गांव के ही रामस्वरूप की 70 वर्षीय मां ने भी दम तोड़ दिया। उधर पचपहरा गांव निवासी 65 वर्षीय राधारानी खेत की रखवाली करके घर लौटीं तो सर्दी लगने से अचानक हालत बिगड़ गई। घर में ही उनकी मौत हो गई। कल्याणसागर निवासी 65 वर्षीय भोला को ठंड से हालत बिगड़ने पर जिला अस्पताल लाया गया, जहां उपचार के दौरान मौत हो गई। इनसेट)

फसलों में करें हल्की सिचाई

मौसम विज्ञानी मुकेश चंद्र अग्रवाल के मुताबिक इस साल दिसंबर में 2012 की सर्दी का रिकार्ड टूट गया है। किसान गेहूं जौ व अरहर की फसल में हल्की सिचाई करें ताकि फसल सर्दी से प्रभावित नहीं हो।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस