संस, भरुआ सुमेरपुर : यमुना में बढ़े पानी के बाद मुफ्त में पकड़ी गई मछलियां बेचना दो मजदूरों को महंगा साबित हो गया और वापस लौटते समय हाईवे पर हादसे में जान गवां बैठे। दोनों मजदूरी करके परिवार का भरण पोषण करते थे।

शुक्रवार शाम को दो बड़े हादसे हुए। पहला हादसा हाईवे पर इंगोहटा गांव के पास अरतरा मोड़ के पहले हुआ। यहां कार और बाइक की टक्कर में दो लोगों की जान चली गई। पत्योरा के मजरा शिवरामपुर डेरा निवासी 28 वर्षीय राममिलन निषाद साथी 25 वर्षीय लल्लू निषाद के साथ यमुना में मछलियों को पकड़कर मौदहा बेचने गए थे। लौटते वक्त हादसे में जान गंवा बैठे।

दूसरा हादसा स्टेट हाईवे पर देर शाम सिकरी मोड़ के पास हुआ था। उजनेड़ी निवासी 22 वर्षीय धर्मेंद्र पाल गांव निवासी 50 वर्षीय रामबाबू तथा एक बालक के साथ पौथिया गांव उपचार कराने बाइक से जा रहे थे। सिकरी मोड़ के पास लोडर ने टक्कर मार दी। घटना में धर्मेंद्र एवं रामबाबू की मौत हो गई। साथ बैठा बालक गंभीर घायल हो गया था। धर्मेद्र की मौत के बाद परिवार की रोजी-रोटी पर संकट आ गया है। बीते दिनों धर्मेद्र अपनी बहन की शादी में गांव आया था।

Edited By: Jagran