गोरखपुर, जागरण संवाददाता। चिलुआताल क्षेत्र में शुक्रवार की देर रात मूर्ति विसर्जन कर घर लौट रहे युवक को पुरानी रंजिश में मनबढ़ ने गोली मार दी। गंभीर स्थिति में पुलिस उसे बीआरडी मेडिकल कॉलेज ले गई, जहां से लखनऊ रेफर कर दिया गया। आरोपित की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है। समाचार लिखे जाने तक उसका पता नहीं चल पाया था। गोली युवक की रीढ़ की हड्डी में फंसी है।

15 अक्‍टूबर की रात में 12 बजे हुई वारदात

चिलुआताल क्षेत्र के भगवानपुर संदीप चौहान शुक्रवार की रात अपने दोस्त अरविंद चौहान के साथ मूर्ति विसर्जन के लिए महेसरा पुल पर गया था। मूर्ति विसर्जन के बाद रात में 12 बजे अपनी बाइक से वापस लौट रहा था। फर्टिलाइजर में एचयूआरएल गेट के पास पहले से अपने दोस्त से साथ मौजूद विक्की भारती ने रोककर पेट मे पिस्टल से गोली मार दी। वारदात के बाद आरोपित फरार हो गया। संदीप के सूचना देने पर पहुंची पुलिस बीआरडी मेडिकल कालेज ले गयी। पुलिस की छानबीन में पता चला कि

रुपये के लेनदेन का चल रहा था विवाद

आरोपित विक्की भारती ने छह महीने पहले संदीप के मित्र अरविंद के छोटे भाई रंजित से 10 हजार रुपये उधार लिए थे। रुपये वापस न करने पर रंजीत से विक्की की कहासुनी हो गई। जिसके बाद उसने रंजीत को पीट दिया। घटना के बाद अरविंद और संदीप ने विक्की को पीटा था। बाद में दोनों ने सुलह कर लिया।

कई दिन से आरोपित कर रहा था गोली मारने की बात

घटना के बाद से ही विक्की अपने दोस्तों से संदीप और अरविंद को मारने के लिए कह रहा था। शुक्रवार की रात में महेसरा पुल पर मूर्ति विसर्जन में संदीप व अरविंद के जाने की जानकारी होने पर पीछे से विक्की भी पहुंचा था। एसपी नार्थ मनोज अवस्थी ने बताया कि आरोपित की तलाश चल रही है। जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Edited By: Navneet Prakash Tripathi