गोरखपुर, जेएनएन। विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय उपाध्यक्ष चंपत राय ने लोगों से अपील की है कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का जैसे अब तक इंतजार किया है, वैसे ही कुछ दिन और करें। धैर्य रखें रामजन्म भूमि पर भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर का निर्माण जरूर होगा। राम मंदिर निर्माण भारत के गौरव स्थापना के पुनर्स्थापना के हजार मार्गों में एक मार्ग है। परिषद के दो दिवसीय प्रांतीय बैठक में हिस्सा लेने आए चंपत राय सरस्वती विद्या मंदिर में संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि देश की न्याय व्यवस्था पर हमें पूरा भरोसा है। पूरा विश्वास है कि फैसला हमारे पक्ष में आएगा। परिषद की वर्तमान और आगामी योजना की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि गोरखपुर में 20 जिलों की प्रांतीय बैठक सम्पन्न हो गई है। बैठक में अगले छह माह की कार्य योजना बनी है। इसके तहत 14 अगस्त 1974 के भारत के भौगोलिक नक्शे से युवाओं को अवगत कराया जाएगा। युवाओं को अखंड भारत के निर्माण के लिए जागरूक किया जाएगा।

80 हजार परिवारों से करेंगे संपर्क

अगले छह माह में गोरखपुर, देवरिया, कुशीनगर, महराजगंज, बस्ती, सिद्धार्थनगर, संतकबीरनगर, आजमगढ़ और मऊ में अभियान चला कर 80 हजार परिवारों से संपर्क किया जाएगा और उन्हें परिषद की कार्ययोजना से अवगत कराकर जोड़ने का कार्य किया जाएगा। इसके अलावा 40 की उम्र तक के युवा रक्तदान अभियान चलाएंगे, जिसमें 1000 से अधिक युवा हिस्सा  लेंगे। उपाध्यक्ष राय ने बताया कि बहुत जल्द 150 युवाओं का दल बूढ़ा अमरनाथ के दर्शन के लिए पुंछ जाएगा। इसके पीछे का मकसद पुंछ के लोगों का आत्मबल बढ़ाना है। गुरुनानक के 550वें प्रकाश पर्व और शरद पूर्णिमा को मनाने की भी परिषद की ओर से योजना बनाई गई है।

एक लाख हित चिंतक बनाएगा विहिप

उधर, विश्व हिंदू परिषद की दो दिवसीय प्रांतीय योजना बैठक गोरखपुर में हुई। बैठक के अंतिम दिन अध्यक्षता करते हुए परिषद के अंतरराष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने सभी को संकल्प दिलाया कि वह हिंदू मूल्यों और परंपराओं की रक्षा के लिए संघर्ष करेंगे। विश्व कल्याण के लिए हिंदुओं को एकजुट करेंगे। बैठक में विश्व हिंदू परिषद समिति बनाओ अभियान संचालित करके 2000 नई समितियों को बनाने का निर्णय लिया गया। इसके अलावा हित चिंतक अभियान संचालित कर एक लाख हित चिंतक बनाने का लक्ष्य तय किया गया। इस दौरान गोरक्ष प्रांत, विभाग और महानगर इकाई के लिए नए पदाधिकारियों का चयन किया गया और उन्हें उनकी जिम्मेदारियों के बारे में जानकारी दी गई। इस दौरान क्षेत्रीय संगठन मंत्री अंबरीश और प्रांत संगठन मंत्री प्रदीप पांडेय आदि उपस्थित रहे।

इनको मिली नई जिम्मेदारी

भागवत प्रांत उपाध्यक्ष, मनीषा चतुर्वेदी प्रांत उपाध्यक्ष, शैलेंद्र सिंह और संतोष गौतम प्रांत के सह मंत्री, पूर्णेन्दु शाही बजरंग दल के प्रांत संयोजक, जानकी और चंदा वर्मा दुर्गा वाहिनी की प्रांत सह संयोजिका, डॉक्टर आर पी शुक्ला गोरखपुर विभाग के विभाग अध्यक्ष एवं सुनील विभाग मंत्री बनाए गए। इसी तरह मनोज गौड़ को विभाग संयोजक और प्रांत के सुरक्षा प्रमुख का दायित्व मिला। संतोष  विभाग संगठन मंत्री देवरिया और प्रांत सत्संग प्रमुख बनाए गए।

विष्णु प्रताप को गोरक्ष प्रांत के समन्वय मंच का प्रमुख, सुजीत दास को गोरक्ष प्रांत का सह  सामाजिक समरसता प्रमुख, दुर्गेश प्रताप राव प्रांत का साप्ताहिक मिलन प्रमुख, प्रवीण सिंह प्रांत के कॉलेज विद्यार्थी संपर्क प्रमुख, भागवत यादव  को प्रांत के गौ रक्षा प्रमुख और डी के सिंह प्रांत के सह विशेष संपर्क प्रमुख की जिम्मेदारी मिली।  इसी तरह गोरखपुर महानगर में ई. सतीश सिंह गोरखपुर महानगर के कार्याध्यक्ष, रणविजय सिंह महानगर उपाध्यक्ष, भूपेंद्र सिंह सेवा प्रमुख, सुमित त्रिपाठी को सह सेवा प्रमुख, जितेंद्र को प्रचार प्रमुख बनाए गए।

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस