सिद्धार्थनगर : डुमरियागंज- रुधौली मार्ग निर्माण शुरू हुए सात माह बीत चुके हैं, बावजूद बनने की रफ्तार ऐसी है कि अगले वित्तीय सत्र तक पूरी हो जाए तो बड़ी बात है। यह मार्ग जर्जर होकर जगह- जगह धंस गया है। आए दिन इस मार्ग पर वाहनों के पहिए घंटों फंसे रहते हैं। बुधवार को रात्रि बारह बजे एक ट्रक व एक बस बढ़नी और भगवानपुर के मध्य फंस गया। जिसके कारण इस मार्ग पर सुबह दस बजे तक जाम के हालात रहे और लोगों को काफी परेशानियां झेलनी पड़ी।

मार्च 2021 में डुमरियागंज - रुधौली मार्ग के निर्माण को स्वीकृति मिली और 24 मार्च को विधायक राघवेंद्र प्रताप सिंह ने निर्माण कार्य करने के लिए भूमिपूजन किया। 15.1 किलोमीटर की यह सड़क 31 करोड़ रुपये की लागत से बननी है। प्रथम किस्त चार करोड़ 50 लाख रुपये अवमुक्त हुआ, लेकिन निर्माण कार्य इतना मंद गति से चल रहा है कि कब पूरा होगा कुछ तय नहीं है। इस मार्ग से आने जाने वाले लोगों को भारी असुविधा झेलनी पड़ती है और वह घंटो जाम में भी फंसे रहते हैं क्योंकि सड़क जगह- जगह धंस चुकी है। पटरियों पर गिट्टियां गिरा दी गई हैं और मार्ग संकरा हो गया है। इस मार्ग से ही निर्माण कार्य में लगी लोडर गाड़ियां भी आती जाती हैं जिसके चलते बढ़नी गांव नहर पुल के पहले और आगे दो जगह सड़क बुरी तरह धंस गई है। बुधवार रात इसी मार्ग पर ट्रक व बस फंसने के कारण नौ घंटे तक जाम लगा रहा। छोटे बड़े वाहन इस जाम में फंसे रहे और लोगों को भारी असुविधा झेलनी पड़ी। कृष्णा पांडेय, सुहेल अहमद, विनोद चौधरी, विजय कुमार, दिनेश आदि लोगों का कहना है कि कार्यदायी संस्था निर्माण में लेटलतीफी कर रही है जिससे लोगों का आए दिन इस तरह की समस्या से जूझना पड़ता है। मोतीगंज चौराहे के पहले भी मार्ग पूरी तरह धंस चुका है।

Edited By: Jagran