गोरखपुर, जेएनएन। गोरखपुर और गोरखपुर के आसपास के जिलों की शुक्रवार 3 July 2020 की प्रमुख खबराें में गोरखपुर से मुंबई और बेंगलुरु के लिए चलेंगी निजी ट्रेनें, 109 ट्रेनों का निर्धारित हुआ रूट खबर चर्चा में रही। इसके अलावा गोरखपुर में बाढ़ का कहर शुरू, आठ मकान व प्राचीन शिव मंदिर राप्‍ती में विलीन, वर्दी को अपने ही कर रहे शर्मसार, फिरौती से लेकर अश्‍लील हरकत पकड़े जाते रहे हैं वर्दीधारी और Guru Purnima 2020: इस बार घर बैठे शिष्यों तक पहुंचेगा गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्‍यनाथ का आशीर्वाद खबर भी चर्चा में रही। 

Guru Purnima 2020: इस बार घर बैठे शिष्यों तक पहुंचेगा गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्‍यनाथ का आशीर्वाद

गोरखपुर। इस बार गुरु पूर्णिमा पर गोरखनाथ मंदिर में होने वाला परंपरागत गुरु पूजन कार्यक्रम नहीं होगा। कोरोना संक्रमण को देखते हुए मंदिर प्रबंधन की ओर से लिए गए इस निर्णय से शिष्य मंदिर में आकर अपने गुरु गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ का आशीर्वाद सीधे तौर पर नहीं ले सकेंगे। शिष्यों को आशीर्वाद जरूर मिलेगा, लेकिन लिखित और ऑनलाइन माध्यम से।

गोरखपुर से मुंबई और बेंगलुरु के लिए चलेंगी निजी ट्रेनें, 109 ट्रेनों का निर्धारित हुआ रूट

गोरखपुर। पूर्वोत्तर रेलवे मुख्यालय गोरखपुर से मुंबई और बेंगलुरु के लिए तेजस एक्सप्रेस की तर्ज पर दो प्राइवेट ट्रेनें चलाई जाएंगी। रेलवे बोर्ड ने देशभर में चलाई जाने वाली प्राइवेट ट्रेनों के लिए कुल 109 रूटों के साथ गोरखपुर रूट को भी प्रस्तावित कर दिया है। बोर्ड द्वारा जारी पत्र में गोरखपुर रूट का उल्लेख है। गोरखपुर के अलावा वाराणसी, लखनऊ और फैजाबाद रूट पर भी प्राइवेट ट्रेनें चलाई जाएंगी।

गोरखपुर में बाढ़ का कहर शुरू, आठ मकान व प्राचीन शिव मंदिर राप्‍ती में विलीन

गोरखपुर। बरसात शुरू होते ही बाढ़ का कहर शुरू हो गया है। गोरखपुर के जंगल कौडि़या विकास खंड में आठ मकान राप्‍ती की धारा में विलीन हो गए। इसके साथ ही एक पुराना शिव मंदिर भी नदी में समा गया। आठ मकानों के नदी में डूबने की रिपोर्ट तहसीलदार सदर से अपर जिलाधिकारी को सौंपी है। बाढ़ का कहर शुरू होते ही अधिकारियों और राजनीतिक दलों के लोगों ने प्रभावित क्षेत्रों का दौरा शुरू कर दिया है।

वर्दी को अपने ही कर रहे शर्मसार, फिरौती से लेकर अश्‍लील हरकत पकड़े जाते रहे हैं वर्दीधारी

गोरखपुर। भटनी (देवरिया) थाने में तैनात रहे इंस्पेक्टर भीष्मपाल सिंह यादव की करतूत ने पुलिस महकमे का सिर एक बार फिर शर्म से झुका दिया है। 21 जून को फरियाद लेकर थाने में आई महिलाओं के सामने उन्होंने अश्लील हरकत शुरू कर दी थी। पहले तो अधिकारी इस पर चुप्पी साधे रहे, लेकिन बाद में सोशल मीडिया पर इंस्पेक्टर का वीडियो वायरल होने पर नौ दिन बाद एक जुलाई को उसके विरुद्ध मुकदमा दर्ज हुआ। दो जुलाई को उसे गिरफ्तार कर लिया गया। वर्दीधारी की ही करतूत की वजह से पुलिसवालों को शर्मनाक स्थिति का सामना करने की यह पहली घटना नहीं है। इससे पहले भी वर्दी वाले ही वर्दी को शर्मसार करते रहे हैं।

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस