गोरखपुर, जागरण संवाददाता। गुलरिहा क्षेत्र में छोटी बहन के साथ छत पर सो रही बालिका के साथ गांव के ही दो युवकों ने सामूहिक दुष्‍कर्म कर दिया था। पतिा ने नामजद मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने 21 सितंबर को दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। बाद में दोनों को अदालत में पेश किया गया, जहां से न्‍यायिक अभिरक्षा में उन्‍हें जेल भेज दिया गया।

बालिका ने पिता को फोन कर दी थी घटना की जानकारी

एसपी नार्थ मनोज अवस्थी ने बताया कि बालिका की मां की मौत हो चुकी है। पिता चेन्नई में मजदूरी करते हैं। छोटी बहन के साथ बालिका अपने दादा-दादी के साथ गांव में रहती है। 12 सितंबर की रात में छोटी बहन के साथ बालिका छत पर सोई थी। आरोप है कि रात में पहुंचे गांव के दीनदयाल और रामगुलाम ने बंधक बनाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। छोटी बहन की नींद खुली तो जान से मारने की धमकी देते हुए दुपट्टे से उसका मुंह बांध दिया। घटना की जानकारी बालिका ने अगले दिन फोन से पिता को दी।

चेन्‍नई से लौटकर पिता ने दर्ज कराया था मुकदमा

19 सितंबर की रात में चेन्नई से घर पहुंचे पिता ने सोमवार को गुलरिहा थाने पहुंच तहरीर दी थी। जांच में आरोप सही मिलने पर गुलरिहा थानेदार ने आरोपितों के खिलाफ दुष्कर्म, पाक्सो एक्ट व धमकी देने का केस दर्ज कर मंगलवार की सुबह गिरफ्तार कर लिया। पीडि़त का मेडिकल कराया जा रहा है।

फर्जी दस्तावेज पर शादी करने वाला जेल गया

फर्जी दस्तावेज पर शादी करने वाले वकील गुप्ता को चौरी चौरा पुलिस ने मंगलवार की सुबह गिरफ्तार किया।दोपहर बाद उसे कोर्ट में पेश किया गया जहां से जेलचला गया।

महिला ने अपनी पहली शादी को तोड़कर वकील के साथ दूसरी शादी की थी। आरोप था कि उसने कोर्ट में शादी करने के लिए फर्जी दस्तावेज का इस्तेमाल किया था और शारीरिक शोषण कर घर से भगा दिया था।कोर्ट के आदेश पर चौरी चौरा पुलिस ने आरोपित समेत आठ लोगों के खिलाफ दुष्कर्म, धमकी व जालसाजी करने का केस दर्ज किया है।

शव मिलने की झूठी सूचना पर परेशान हुई पुलिस

पिपराइच रोड पर जंगल मातादीन में स्थित कालिका होटल के सामने मंगलवार की शाम महिला का शव मिलने की सूचना पर सनसनी फैल गई।फोर्स के साथ पहुंचे पादरी बाजार चौकी प्रभारी ने देर शाम तक खोजबीन की लेकिन पता नहीं चला।शाम चार बजे डायल 112 पर एक व्यक्ति ने फोन कर सूचना दी कि कालिका होटल के पास सड़क पर हत्या कर महिला का शव फेंका गया है। खोजबीन के बाद पता न चलने पर पुलिस ने सूचना देने वाले के मोबाइल पर संपर्क किया तो बंद था।थानाध्यक्ष शाहपुर दुर्गेश ङ्क्षसह ने बताया कि झूठी सूचना देने वाले के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।

Edited By: Navneet Prakash Tripathi