गोरखपुर, जागरण संवाददाता। ससुराल में अपनी हत्या की सूचना देने वाला युवक जिंदा है। उसने अपने साले को वाट्सएप पर काल करके बताया है कि वह जिंदा है। उसके दोस्त ने उस पर लालरंग गिरा दिया था। यह फोटों भेजकर उसने मजाक किया है। उसने बताया कि वह दिल्ली जा रहा है। इसलिए उसकी फोटो को डिलीट कर दिया जाए। उसका यह मजाक पुलिस व स्वजन पर बेहद भारी पड़ा है। रातभर उसकी तलाश में लोग भटकते रहे हैं। झंगहा थाने की पुलिस टीम उसे लाने के लिए दिल्ली रवाना हो गई है।

झंगहा का बेलवा निवासी 25 वर्षीय अमित उर्फ सनीदेवल अपनी ससुराल नव्वाबारी में रहता है। मंगलवार अपराह्न तीन बजे वह ससुराल से कहीं घूमने के लिए निकला और करीब आठ बजे अपने साले राजकुमार के पास अपनी लाल रंग से सनी फोटो भेजी। रंग उसके बनियान, चेहरे पर लगा हुआ था और पीठ के नीचे भी गिरा हुआ था। फोटो देखने के बाद हर किसी ने उसके हत्या की आशंका व्यक्ति की। राजकुमार ने इसकी सूचना पुलिस को दे दी। इसे हत्या का मामला मानकर पुलिस जांच में जुट गई। मौके पर पुलिस अधीक्षक उत्तरी मनोज अवस्थी भी पहुंच गए। पुलिस रात भर अमित की तलाश में जुटी रही, लेकिन उसका कहीं कुछ पता नहीं चला। अमित के घर व ससुराल दोनों पक्षों ने थाने में हत्या की तहरीर देकर एक दूसरे पर आरोप भी लगाया।

वाट्सएप काल कर ससुराल के लोगों को बताई असलियत

सुबह अमित ने अपने साले को वाट्सएप काल करके बताया कि उसके साथी ने उस पर लाल रंग फेंककर मजाक किया था। उसने गलती से उन्हें फोटो भेज दी थी। उस फोटो को वह डिलीट कर दें। उसने यह भी कहा कि वह घर पर आता तो उसे बुरा भला कहा जाएगा। इस लिए वह घर आने की बजाय दिल्ली जा रहा है। उसने बताया कि उसका मोबाइल डिस्चार्ज है। ऐसे में वह अधिक देर तक बात नहीं कर सकेगा। इतना कहकर उसने मोबाइल स्विच आफ कर लिया। एसएसपी दिनेश कुमार पी का कहना है कि अमित ने हत्या का स्वांग रचा था। उसकी लोकेशन ट्रेस की जा रही है। उसे गोरखपुर लाने के बाद पता चलेगा कि किन परिस्थितियों में यह स्थिति आई। उसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Satish Chand Shukla

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट