गोरखपुर, जेएनएन। चार दिनो से लगातार हो रही बारिश से सिद्धार्थनगर जिले में बांसी -बस्ती एनएच मार्ग स्थित असनहरा के पास तीन मीटर बह गया। यह तब हुआ जब असनहरा बाईपास कट गया। अब इससे छोटे बड़े हर वाहनों का जनपद व मंडल मुख्यालय से आवागमन पूरी तरह ठप हो गया है। बाईपास के अगल- बगल जलभराव के कारण पानी मे काफी तेज बहाव है। इससे मार्ग को ठीक करने में एनएच विभाग की कोई युक्ति काम नहीं आ रही है। दोनों छोर पर वाहनों की लंबी कतार लगी हुई है।

रात भर चलता रहा काम, सुबह कट गया मार्ग

शुक्रवार की सुबह 10 बजे के करीब यह बाईपास एक जगह बैठा तो प्रशासन के कान खड़े हो गए। भारी वाहनों का आवागमन ठप कर मार्ग के मरम्मत का कार्य शुरू हो गया । पर बाईपास के अगल बगल हुए भारी जलभराव के निकलने की पर्याप्त व्यवस्था न होने के कारण मार्ग एक तरफ बनता तो दूसरे तरफ बैठ जाता। देर रात तक टीम मरम्मत में लगी रही पर सफलता हाथ नहीं लगी। पानी के तेज बहाव में सुबह होते होते बाईपास तीन मीटर से अधिक की चौड़ाई में बह गया।

यहां दो वर्ष से चल रहा है पु‍ल निर्माण कार्य

इस जगह पुल निर्माण का कार्य विगत दो वर्ष से जारी है। इसको लेकर बाईपास का निर्माण कराया गया। कार्य इतने कच्छप गति से चल रहा है कि अक्सर यह समस्या उत्‍पन्न हो रही है। तीन माह पूर्व भी यही स्थिति यहां उतपन्न हुई थी और जिले व मंडल मुख्यालय का आवागमन पांच दिनों तक ठप हो गया था। जब बाईपास के अगल बगल जमा पानी कम हुआ था तभी मार्ग मरम्मत में विभाग को सफलता मिली थी। इस बार भी यही स्थिति सामने है।

पहले भी ठप हो चुका है आवागमन

अभी जून के अंतिम माह में हुई तेज बारिश के कारण मनिकौरा नानकार, मस्जिदिया, तेनुई, भैसहिया व असनहरा आदि गांवों में जलभराव की स्थिति उतपन्न हो गई थी। यह स्थिति बनाये गये बाईपास में जल निकासी के लिए कोई व्यवस्था न करने के कारण उतपन्न हुई । ग्रामीणों के विरोध पर प्रशासन ने बाई पास को कटवा कर जल निकासी की व्यवस्था तो कराई पर पानी के दबाव में बाईपास पांच मीटर तक कट गया जिससे पांच दिनों तक आवागमन पूरी तरह ठप रहा।

Posted By: Satish Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप