गोरखपुर, जेएनएन। स्मार्ट मीटर लगाने वाली फर्म के जालसाज कर्मचारी ने आवास विकास कॉलोनी की विद्यावती देवी को 37 हजार रुपये लौटा दिए हैं। कर्मचारी ने 1.09 लाख के बिजली बकाए को 60 हजार रुपये में निपटाने का झांसा देकर महिला से दो महीने पहले रुपये ले लिए थे।

खबर प्रकाशित होने प्रकट हुआ जालसाज

अखबारों में खबर प्रकाशित हुई तो जालसाज कर्मचारी महिला के घर पहुंचा और 28 हजार रुपये का चेक और नौ हजार रुपये नकद दिए। शेष रुपये दूसरे दिन देने का वादा किया।

जांच में फर्जी रसीद मिलने पर खुला था भेद

बता दें कि महादेव झारखंडी के आवास विकास कॉलोनी में बीते 30 अक्टूबर को स्मार्ट बिजली मीटर लगाने पहुंचे एलएंडटी कंपनी की कार्यदायी फर्म एसएस इंफ्रा के कर्मचारी ने जांच की तो विद्यावती देवी का बिजली का 1.09 लाख रुपये बकाया निकला। इसी बकाये में उनका कनेक्शन भी कटा था। कर्मचारी ने रिश्तेदार से 60 हजार रुपये में बिल शून्य कराने की बात कही। एक सप्ताह पहले कर्मचारी ने विद्यावती देवी को 60 हजार रुपये की रसीद दी। यह रसीद जांच में फर्जी मिली।

चीफ इंजीनियर ने एफआइआर के निर्देश दिए

चीफ इंजीनियर देवेंद्र सिंह ने एलएंडटी के प्रतिनिधि को बुलाकर जालसाज कर्मचारी के खिलाफ एफआइआर के निर्देश दिए। साथ ही महिला के रुपये वापस कराने को कहा। कंपनी के प्रतिनिधि विजय कुमार चौधरी ने बताया कि कर्मचारी के खिलाफ कैंट थाने में तहरीर दी गई है।

Posted By: Satish Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस