गोरखपुर, जागरण संवाददाता। गोरखपुर शहर से बाहर एक नया गोरखपुर बसाने की परिकल्पना काफी पहले से थी लेकिन कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट बन जाने के बाद यह साकार हो सकी। इस नए शहर के लिए जगह जगह चिह्नित करने पर फैसला नहीं हो पा रहा था। पड़ोस के जिले में अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट अस्तित्व में आने के बाद जीडीए ने इसी दिशा में नया गोरखपुर बसाने का निर्णय लिया। जिस जगह का चयन किया गया वहां से गोरखपुर एयरपोर्ट तक पहुंच भी काफी आसान है।

गोरखपुर मंडल के सभी जिलों के लोगों की हो सकती है पसंदीदा जगह

कुशीनगर रोड पर कुसम्ही से आगे कोनी जगदीशपुर एवं देवरिया रोड पर रामनगर कड़जहां के बीच करीब 2500 एकड़ से अधिक क्षेत्रफल पर नया गोरखपुर बसाने का फैसला किया गया है। यह क्षेत्र सभी सुविधाओं से युक्त होगा। हर तरह की सुविधाओं के लिहाज से महायोजना 2031 में भू उपयोग निर्धारित किया जा रहा है। धीरे-धीरे ही सही लेकिन अगले दो से तीन साल में यह योजना मूर्त रूप में नजर आने लगेगी। इस स्थान से बिहार जाना हो या पश्चिम बंगाल, नेपाल जाना हो लखनऊ, वाराणसी, हर जगह की कनेक्टिविटी काफी आसान है। गोरखपुर मंडल के अन्य जिलों देवरिया, महराजगंज एवं कुशीनगर के लोग भी बसने के लिए इस जगह को अपनी प्राथमिकता में शामिल करेंगे क्योंकि सभी शहरों तक यहां से आना-जाना काफी आसान है।

क्षेत्र का होगा विकास

नया गोरखपुर बसने के बाद कुसम्ही एवं सोनबरसा क्षेत्र का तेजी से विकास होगा। चौरी चौरा तक भी गोरखपुर विकास प्राधिकरण (जीडीए) का सीमा विस्तारित किया जा चुका है। ऐसे में चौरी चौरा तक विकास आसानी से होगा। यह नया शहर गोरखपुर को मेट्रोपोलिटन शहर के रूप में विकसित करने में भी महत्वपूर्ण योगदान निभाएगा।

योजना की हुई सराहना, जानकारी जुटाने पहुंचे लोग

नया गोरखपुर बसाने की बात सार्वजनिक होने के साथ ही लोगों ने इसे सराहा है। स्थानीय लोग अपने क्षेत्र के विकास को लेकर काफी खुश हैं। रियल एस्टेट कारोबार से जुड़े लोग भी वहां संभावना तलाशने लगे हैं। आधा दर्जन लोगों ने जीडीए उपाध्यक्ष प्रेम रंजन सिंह से भी मुलाकात कर वहां के बारे में जानकारी ली है। कई लोगों ने वहां अपनी योजनाओं को लेकर भी चर्चा की। सभी को महायोजना आने तक इंतजार करने को कहा गया है।

नया गोरखपुर योजना के लिए जिस स्थान का चयन किया गया है, वहां से कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट एवं गोरखपुर एयरपोर्ट तक पहुंच आसान होगी। शनिवार को सुबह से कुछ लोगों ने इस योजना के बारे में जानकारी ली है। - प्रेम रंजन सिंह, उपाध्यक्ष जीडीए।

Edited By: Pradeep Srivastava