गोरखपुर, जेएनएन। गोरखपुर के खोराबार ब्लाक के प्रमुख शैलेश यादव के चचेरे भाई व प्रापर्टी डीलर बलराम यादव की लाश रामनगर कडज़हां गांव के चंद्रिका कालोनी में रहने वाली नर्स के घर के गेट पर मिली है। सिर में गोली लगने से उनकी मौत हुई है। वारदात के बाद से ही नर्स और उसकी मां फरार हैं। घर में सिर्फ चार वर्ष का बच्चा मौजूद था। बच्चे के बयान के आधार पर पुलिस ने बलराम के खुदकशी करने का दावा किया है। हालांकि घटना को लेकर इलाके में कई तरह की चर्चा सरगर्म है। स्‍थानीय लोगों के अनुसार यह एक तरफा प्रेम प्रसंग का मामला है।

सिर में लगी गोली

रामनगर कडज़हां गांव के पास चंद्रिका कालोनी के बाहरी हिस्से में घर बनवाकर रहने वाली आकृति दुबे और उसकी मां, पेशे से नर्स हैं। बलराम यादव (25), खोराबार के ही मदरहवां निवासी राजेंद्र यादव के पुत्र हैं। परिजनों के मुताबिक देर शाम वह घर से निकले थे। रात में नौ बजे के आसपास आकृति दुबे ने ही उन्हें फोन कर बलराम को गोली लगने की सूचना दी और बताया कि वह उसके घर के सामने गेट पर पड़े हैं। परिजन मौके पर तो नर्स के गेट के ठीक सामने बलराम की लाश मिली। उनके सिर में गोली लगी थी।

घर से गायब हुई नर्स

परिजनों के मुताबिक जिस समय वे मौके पर पहुंचे उस समय आकृति दुबे और उसकी मां घर में मौजूद थीं। दोनों घर का फर्श साफ करने में व्यस्त थीं। भीड़ बढऩे पर रहस्यमय ढंग से दोनों गायब हो गईं। छानबीन में नर्स के घर के बरामदे में कंडे पर मीट बनाए जाने का प्रमाण मिला है। हालांकि कंडे की राख और मीट का बर्तन साफ करने का प्रयास किया गया था। घर के अंदर भी कई जगह फर्श पर खून साफ किए जाने के संकेत मिले हैं। घर के अंदर एक कमरे में रखे फ्रीज में तीन केन बीयर मिली है।

बंदूक लेकर भागी नर्स

नर्स के घर में मिले बच्चे ने बताया है कि दीदी, बंदूक लेकर भाग गई हैं। बच्चे के मुताबिक बलराम, रात में उनके घर आए थे। उन्होंने थोड़ा सा मीट भी खाया था। स्थानीय लोगों के मुताबिक बच्चा, नर्स आकृति दुबे का छोटा भाई है। उसने मां का नाम शालिनी बताया है।

शुरुआती छानबीन में घटना खुदकशी की प्रतीत हो रही है। एक तरफा प्यार में खुद को गोली मारे जाने की बात सामने आई है। जिस घर के सामने लाश मिली है, उसमें एक बच्चा मिला है। उसके बयान से भी खुदकशी की ही बात सामने आई है। - डा. सुनील गुप्त, एसएसपी

परिजनों ने नर्स पर लगाया हत्‍या का आरोप

उधर, रविवार को बलराम यादव के परिजनों ने हत्या की तहरीर दी है। नर्स, उसकी मां चार अन्य लोगों पर पुरानी रंजिश में हत्या करने का आरोप लगाया है। थानेदार ने अधिकारियों के निर्देश पर मुकदमा दर्ज करने की बात कही है। खोराबार के मदरहवा टोला निवासी बलराम यादव की शनिवार की रात रामनगर कड़जहा में रहने वाली नर्स आकृति दुबे के घर के गेट पर लाश मिली थी। सिर में गोली लगने से उनकी मौत हुई थी। नर्स ने ही फोन कर बलराम के परिजनों को इसकी सूचना दी थी। परिजन मौके पर पहुंचे तो नर्स और उसकी मां घर से फरार हो चुकी थीं। घर में चार वर्षीय बच्चा भर मौजूद था। उसके बयान के हवाले से पुलिस ने घटना को खुदकशी करार दिया है। परिजनों के मुताबिक नर्स और उसकी मां ने बलराम को घर के अंदर बुलाकर मददगारों के सहयोग से उनकी हत्या की है। बलराम के बड़े भाई सिकंदर ने तहरीर देकर पुरानी रंजिश में हत्या करने का आरोप लगाया है। उनके मुताबिक नर्स और उसकी मां काफी दिन से हत्याकी धमकी दे रही थीं।

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस