गोरखपुर, जेएनएन। ठेकेदार संत कुमार की हत्या के बाद भरवल गांव में तनाव है। हत्याकांड के मुख्य आरोपित दिनेश यादव ने शुक्रवार को देवरिया कोर्ट में सरेंडर कर दिया। वारदात में शामिल उसके भाई और साले पर एसएसपी ने 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। क्राइम ब्रांच और बेलीपार पुलिस सरगर्मी से दोनों को तलाश रही है।

बुधवार की सुबह ठेकेदार संत कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी गई। पुलिस ने संत के बड़े बेटे मंजेश की तहरीर पर दिनेश निषाद, उसके भाई रमेश निषाद, साले महादेव, गाव के बीडीसी सदस्य अनिल और सुंदरम पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस तीन दिन से दबिश देने का दावा कर रही है। मुख्य आरोपित दिनेश निषाद ने शुक्रवार को पुलिस व क्राइम ब्रांच को चकमा देते हुए देवरिया कोर्ट में सरेंडर कर दिया। पुलिस अन्य आरोपितों की तलाश में दबिश दे रही है। एसएसपी डॉ. सुनील गुप्ता ने बताया कि दिनेश के कोर्ट में सरेंडर करने की सूचना है। पुष्टि के लिए बेलीपार पुलिस को देवरिया भेजा गया है।

दिनेश की मददगार रही है पुलिस

हत्यारोपित दिनेश निषाद पर 28 मुकदमें दर्ज है। बदमाश से सांठगांठ होने की वजह से स्थानीय पुलिस उसके खिलाफ निरोधात्मक कार्रवाई नहीं करती करती थी। 28 मुकदमे दर्ज होने के बाद भी बदमाश का हिस्ट्रीशीट न खोला जाना इसका प्रमाण है। मामला संज्ञान में आने पर एसएसपी ने गुरुवार को दारोगा महेंद्र को निलंबित कर दिया। सीओ और थानेदार पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

युवक की नहीं हुई पहचान

गोरखपुर शहर के बहरामपुर में फोरलेन पर मिले युवक के शव की पहचान नहीं हो पाई है।

मंगलवार की रात करीब एक बजे फोरलेन पर युवक का शव मिला था। युवक ने युवती की तरह कपड़े पहने थे। उसके सिर में आगे और पीछे गोली मारी गई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप