गोरखपुर, जेएनएन। देवरिया जिले के सदर कोतवाली के ग्राम भगवतीपुर में बेटे-बहू की प्रताडऩा से आजिज दंपती द्वारा आत्महत्या करने के मामले में पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया हैं। मृतकों की बेटी की तहरीर पर पुलिस ने बेटे-बहू समेत तीन पर आत्म हत्या के लिए प्रेरित करने की कार्रवाई की है। मुकदमा दर्ज करने के साथ ही पुलिस ने मुख्य आरोपित बेटे को हिरासत में ले लिया। जबकि फरार चल रहे बहू समेत दो आरोपितों की गिरफ्तारी को पुलिस ने कई जगहों पर दबिश दी।

बेटी की शिकायत पर मुकदमा दर्ज

गांव के झुन्नू चौहान व उनकी पत्नी बहमदेईया की बुधवार की देर शाम मौत हो गई। मृतकों की बेटी सुरसती देवी पत्नी हरी चौहान निवासी चंदौली खोराराम थाना कोतवाली की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया। सुरसती का आरोप है कि आए दिन मेरे भाई राम बिहारी, भाभी सुखिया व भतीजा बलवंत माता-पिता को प्रताडि़त करते थे। उनकी प्रताडऩा के चलते ही वह लोग अलग रहते थे।

मौत से एक दिन पहले मां-बाप की हुई थी पिटाई

एक दिन पूर्व दोनों लोगों की पिटाई भी की गई। इसकी जानकारी मेरी मां ने मेरी बेटी रीता को मोबाइल पर दी। इनकी प्रताडऩा के चलते ही मेरे पिता व मां ने जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली। कोतवाली टीजे सिंह ने कहा कि मुकदमा दर्ज कर छानबीन की जा रही है।

पोस्टमार्टम पर दहाड़ मारकर रोने लगी बेटियां

मृतक दंपती को तीन बेटे रामबिहारी, सरवन व राजकुमार थे, जबकि चार बेटियां बतासी, मुन्नी, सुरसती व रीता देवी हैं। जब मां-बाप की मौत की सूचना चारों बेटियों को मिली तो वह मायके पहुंची और दहाड़ मारकर रोने लगी। उनको रोता देख वहां मौजूद लोगों की भी आंखें भर आई। 

Posted By: Satish Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस