गोरखपुर, प्रेम नारायण द्विवेदी। रेल यात्रा के दौरान अगर महिला यात्री सेनेटरी पैड या आवश्यक प्रसाधन सामग्री घर पर ही भूल गई है तो परेशान होने की आवश्यकता नहीं है। स्टेशन के बुक स्टालों पर ही उन्हें सेनेटरी पैड व अन्य जरूरी प्रसाधन सामग्री (शीशा, कंघी, बिंदी, रुमाल और पाउडर आदि) मिल जाएंगी। रेलवे बोर्ड के दिशा-निर्देश पर स्टेशनों पर मल्टी परपज स्टाल बनाने की तैयारी शुरू हो चुकी है।

 प्रथम चरण में बुक स्टालों को मल्टी परपज स्टाल बनाया जाएगा। पूर्वोत्तर रेलवे में प्रक्रिया शुरू है। मल्टी परपज बन जाने के बाद बुक स्टालों पर पत्र-पत्रिकाओं के अलावा रेल नीर या अधिकृत पानी की बोतलें, सेनेटरी पैड और जनरल सामग्री की बिक्री शुरू हो जाएगी। बुक स्टालों पर तैनात वेंडर इसके अलावा अन्य सामग्री नहीं बेच सकते हैं। भारतीय रेलवे स्तर पर महिला वर्ष मनाया जा रहा है। इसके तहत महिलाओं को स्टेशनों पर और ट्रेनों में अतिरिक्त सुविधाएं मुहैया कराई जा रही हैं।

प्लेटफार्मों पर स्थापित होंगी सेनेटरी पैड मशीनें

बुक स्टाल ही नहीं रेलवे के सभी प्लेटफार्मों पर भी सेनेटरी पैड (सेनेटरी नैपकिन) मिलेगी। इसके लिए सेनेटरी पैड मशीनें लगाई जाएंगी। इज्जतनगर मंडल के स्टेशनों पर मशीन लगाने की तैयारी शुरू हो गई है। गोरखपुर, लखनऊ और छपरा आदि में भी जल्द ही मशीनें लग जाएंगी। गोरखपुर स्टेशन के एसी लाउंज में पूर्वोत्तर रेलवे महिला कल्याण संगठन ने सेनेटरी पैड मशीन स्थापित कराया है। पांच रुपये का सिक्का डालने एक पैड मिल जाता है। एनई रेलवे के सीपीआरओ संजय यादव ने कहा कि रेलवे सम्मानित महिला यात्रियों की सुविधा के लिए हर संभव प्रयास करने के लिए तत्पर है। इसी क्रम में यह सुविधा प्रदान की जा रही है।

Posted By: Pradeep Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप