गोरखपुर, जागरण संवाददाता। तीन साल के बच्चे के पेट से चूहे के बच्चे जैसे दिखने वाले मृत कीड़े निकलने का चौंकाने वाला मामला गुरुवार को सामने आया है। घटना कुशीनगर जिले घटना खड्डा विकास खंड के हीरा छपरा गांव की है। स्वजन उसे लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तुर्कहा पहुंचे जहां डाक्टर के सामने ही फिर बच्चे के शौच के रास्ते कीड़ा बाहर आया। परेशान डाक्टर ने बच्चे को गोरखपुर मेडिकल कालेज रेफर कर दिया।

कुशीनगर के हीरा छपरा गांव का मामला, बच्चा तुर्कहा सीएचसी से गोरखपुर मेडिकल कालेज रेफर

हीरा छपरा निवासी व्यास पाल के तीन वर्षीय पुत्र राज के पेट में कुछ दिनों से तेज दर्द था। देखने के बाद स्थानीय डाक्टर ने उसे कीड़ा मारने की दवा दे दी।

गुरुवार की सुबह शौच के दौरान बच्चे पेट से एक-एक कर चूहे जैसे दिखने वाले मृत कीड़े निकले। स्वजन बच्चे और उसके पेट से निकले कीड़े को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तुर्कहा पहुंचे। यहां डाक्टर से बातचीत हो रही थी कि उनके सामने भी एक और कीड़ा निकला।

पेट में तेज दर्द की शिकायत थी

बच्चे की मां ने बताया कि बीते छह माह से वह पेट में दर्द की शिकायत करता था। इधर एक सप्ताह से उसको तेज दर्द हो रहा था। इलाज के बाद भी आराम नहीं हुआ तो दो दिन पहले डाक्टर ने उसे कीड़ा मारने की दवा दी। इसके बाद भी उसे आराम नहीं मिलाा।

डाक्टरों ने कहा, चूहा होने में संदेह लेकिन जांच के बाद ही कुछ बता पाएंगे

बच्चे को देखने वाले सीएचसी के डा. पीएन गुप्ता का कहना है कि किसी मनुष्य के पेट से चूहे का निकलना उनके चिकित्सीय कार्यकाल पहला मामला है। बीआरडी मेडिकल कालेज गोरखपुर के बाल रोग विशेषज्ञ डा. भूपेंद्र शर्मा व फिजीशियन डा. राजकिशोर सिंह ने बताया कि बच्चे के पेट से चूहे के आकार के जीव नहीं निकल सकते। पेट के ही कृमि होंगे, स्टूल जांच के बाद पैथोलाजिस्ट ही बता पाएंगे कि ये किस तरह के कृमि हैं।

Edited By: Pradeep Srivastava