गोरखपुर (जेएनएन)। बीआरडी मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी से बच्चों की मौत के मामले में बेहद चर्चा में आए डॉक्टर कफील के भाई पर कल देर रात जानलेवा हमला किया गया। प्रापर्टी डीलर कासिफ जमाल खान गोली लगने के बाद भी ऑटो से निजी अस्तपाल पहुंचे। उधर कोतवाली पुलिस इस घटना को संदिग्ध मान रही है।

गोरखपुर में कोतवाली के हुमायूंपुर दक्षिणी मोहल्ले में कल देर रात स्कूटी सवार युवकों ने प्रापर्टी डीलर को गोली मार दी। गोरखनाथ में रहने वाले प्रापर्टी डीलर परिचित से मिलकर घर लौट रहे थे। वारदात को अंजाम देने के बाद युवक फरार हो गए। घायल प्रापर्टी डीलर टेंपो पकड़कर खुद ही प्राइवेट अस्पताल पहुंचे। पुलिस इस घटना को संदिग्ध मान छानबीन कर रही है।

गोरखपुर के राजघाट के बसंतपुर, कुमार गली निवासी डा. कफील खान के छोटे भाई कासिफ जमील खान (35) प्रापर्टी डीलिंग का काम करते हैं। कल शाम सात बजे कासिफ घर पर रोजा इफ्तार करने के बाद बाइक लेकर गोरखनाथ क्षेत्र में रहने वाले परिचित से मिलने चले गए। इसके बाद रात 10:15 बजे के करीब घर लौटते समय हुमायूंपुर दक्षिणी मोहल्ले में जेपी हास्पिटल से दुर्गाबाड़ी की तरफ आने वाली गली में स्कूटी सवार दो युवकों ने उन्हें निशाना बना कर पिस्टल से फायरिंग कर दी। दाएं कंधे और बांह और गर्दन के पास गोली लगने पर वह बाइक समेत गिर पड़े।

हमला करने के बाद स्कूटी सवार बदमाश दुर्गाबाड़ी की तरफ भाग निकले। हमलावरों के फरार होने पर कासिफ पैदल जेपी हास्पिटल पहुंचे, जहां से आटो पकड़कर स्टार हास्पिटल पहुंचे और घटना की जानकारी दी। गोली चलने की आवाज सुनकर बाहर निकले हुमायूंपुर दक्षिणी मोहल्ले के लोगों ने 100 नंबर पर फोन कर पुलिस को गोली चलने की जानकारी दी। फोर्स के साथ हास्पिटल पहुंचे सीओ गोरखनाथ तथा सीओ कोतवाली ने कासिफ से घटना की जानकारी लेने के साथ ही घटनास्थल पर पहुंचकर छानबीन की।

घायल का मेडिकल कराने को लेकर डॉक्टर कफील और सर्कल ऑफिसर (सीओ) प्रवीण सिंह के बीच नोकझोंक हुई है। पुलिस अफसरों के हस्तक्षेप से घायल को मेडिकल कराने के लिए मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया, लेकिन डॉक्टर कफील जबरन अपने भाई को प्राइवेट अस्पताल लेकर चले गए। कोतवाल घनश्याम तिवारी का कहना है कि किसी पुरानी रंजिश में गोली मारे जाने की आशंका जताई जा रही है। तहरीर मिलने पर केस दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जायेगी।

भाई पर जानलेवा हमला होने के बाद डॉ. कफील ने कहा कि मेरे भाई जमील को आज तीन गोलियां मारी गई हैं। हत्या करने की कोशिश की गई है। वह अस्पताल में भर्ती हैं। मैंने हमेशा से कहा था कि वे हमें मारने की कोशिश करेंगे। एसपी सिटी विनय सिंह ने बताया कि प्रापर्टी डीलर की कई लोगों से रंजिश चलती है। मामले की छानबीन चल रही है। जल्द ही पर्दाफाश कर लिया जाएगा।

मोहल्ले के लोगों ने की गोली चलने की पुष्टि

हुमायूंपुर दक्षिणी निवासी मुन्नीलाल गुप्ता के मकान के सामने प्रापर्टी डीलर को गोली मारी गई है। मुन्नीलाल ने बताया कि पड़ोस में रहने वाले पट्टीदार के घर जन्मदिन की पार्टी चल रही थी। गोली चलने की आवाज सुनकर बाहर निकले बच्चों ने दरवाजे पर बाइक लेकर गिरे व्यक्ति को देखकर सूचना दी। गोली मारने वाले स्कूटी सवार भागते समय मोड़ पर गिर गए थे। दोबारा स्कूटी उठाकर दुर्गाबाड़ी की तरफ निकल गए। कुछ देर बाद घायल व्यक्ति भी बाइक छोड़कर चला गया।

गर्दन के पास फंसी है गोली

कासिफ जमील के गर्दन के पास लगी गोली फंसी है। स्टार हास्पिटल के डाक्टरों ने प्राथमिक उपचार करने के बाद स्थिति जानने के लिए उनका एमआरआई कराया जिसमें यह जानकारी हुई। 

By Dharmendra Pandey