गोरखपुर, जेएनएन। बाबा राघवदास मेडिकल कालेज के प्रधानाचार्य डा.गणेश कुमार ने सभी डाक्टरों का आह्वान किया कि वह कोरोना की संभावित तीसरी लहर के लिए तैयार रहें। कहा कि डाक्टरों पर समाज का ज्यादा भरोसा होता है, इसलिए सभी की अपेक्षाओं पर खरा उतरना हम सभी की जिम्मेदारी है।

मेडिकल एथिक्स की पहली वर्षगांठ पर सेमिनार में बोले डाक्‍टर

डा. गणेश कुमार मेडिकल कालेज के आडिटोरियम में मेडिकल एथिक्स की पहली वर्षगांठ पर आयोजित सेमिनार को संबोधित कर रहे थे। वित्त, संसदीय कार्य एक एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने पिछले साल 19 जून को मेडिकल एथिक्स सेमिनार का शुभारंभ किया था। डा. पवन प्रधान ने कहा कि मरीज के निर्णय लेने की स्वायत्तता पर प्रकाश डाला।

डा. महिम मित्तल ने कोविड की विपरीत परिस्थितियों में मेडिकल एथिक्स के पालन और पैदा हुए विरोधाभास की चर्चा की। डा. पीएन सिंह ने कहा कि डाक्टरों को संवेदनशील और धैर्यवान होना होगा। कहा कि सेमिनार का लाभ डाक्टरों को मिल रहा है।

इससे पूर्व मुख्य अतिथि चिकित्सा शिक्षा विभाग के विशेष सचिव रामनेवास ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उन्होंने सेमिनार को काफी महत्वपूर्ण बताया और कहा कि इस तरह की चर्चा हमें खुद में सुधार के लिए प्रेरित करती है। मेडिसिन विभाग के जेआर तृतीय वर्ष डा.अनुपम श्रीवास्तव ने भारत रत्न डा. बीसी राय की जीवनी और कार्यों से प्रेरणा लेने की बात कही। डा. डीके श्रीवास्तव ने भी अपने विचार रखे।

गोरखपुर के सात ब्लाकों में टीकाकरण के लिए लगाई जाएंगी 105 टीमें

कोरोना से बचाव का टीका लगाने में सोमवार को तेजी आएगी। स्वास्थ्य विभाग ने 20 हजार लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा है। इसके लिए सात ब्लाकों में 105 टीमें लगाई जाएंगी। शहर और ग्रामीण क्षेत्र के 50 बूथों पर भी टीकाकरण होगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ज्यादा से ज्यादा लोगों को टीका लगाने के लिए गांवों में विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं।

इसी के तहत सोमवार से स्वास्थ्य विभाग ने बड़े अभियान की रूपरेखा तय की है। सीएमओ डा.सुधाकर पांडेय ने बताया कि पायलट प्रोजेक्ट के तहत सात ब्लाकों को क्लस्टर बनाकर अभियान शुरू किया जाएगा। एक जुलाई से जिले के सभी ब्लाकों में बड़ा अभियान चलाया जाएगा। टीकाकरण से किसी को वंचित नहीं होने दिया जाएगा।

इन ब्लाकों में अभियान

कैंपियरगंज, पिपराइच, जंगल कौडिय़ा, पाली, ब्रह्मपुर, खजनी और बेलघाट।

Edited By: Pradeep Srivastava