गोरखपुर, जागरण संवाददाता : संतकबीर नगर जिले के शिवबखरी गांव निवासी बहरैची की बखिरा पुलिस की अभिरक्षा में मौत का मामला राजनैतिक रंग लेने लगा है। सपा नेताओं ने मृतक के स्वजन से मिलकर न्याय दिलाने के लिए सड़क से लेकर न्यायालय तक प्रयास करने की बात कही तो वहीं भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने बखिरा थाने पर प्रदर्शन कर विरोध जताया।

सरकार के इशारे पर पुलिस कर रही काम

सपा के वरिष्ठ नेता सुनील सिंह ने कहा कि पुलिस निरंकुश होकर सरकार के इशारे पर गुंडों की तरह कार्य कर रही है तो वहीं सरकार कार्रवाई के नाम पर दोहरा मानदंड अपना रही है। बिना गुनाह के एक व्यक्ति को तीन दिनों तक हवालात में रखकर प्रताड़‍ित किए जाने के बाद भी अभी तक प्रदेश सरकार ने मामले का संज्ञान नहीं लिया है। उन्होंने बहरैची के स्वजन को न्याय दिलाने के लिए हर स्तर पर संघर्ष करने का भरोसा दिया। इस मौके पर प्रिया पाठक, एखलाक अहमद, टीएन गुप्ता, अविनाश मद्धेशिया, ऋषिकेश सिंह आदि मौजूद रहे।

आरोपित थानेदार के गिरफ्तारी की मांग

भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष बृजभान बौद्ध व आजाद समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष अजय कुमार गौतम के नेतृत्व मेें दिन में दो बजे लगभग दो दर्जन लोग बखिरा थाने पर पहुंचे। सभी ने प्रदर्शन करते हुए आरोपित थानेदार मनोज कुमार सिंह को गिरफ्तार किए जाने की मांग की। इस मौके पर जुनैद अहमद, रमान कखर, मंगल सिंह, रमेश कुमार, दिवाकर राय, राकेश कुमार, सुशील कुमार, शोहरत अली, विश्वनाथ समेत अनेक लोग मौजूद रहे।

महिला प्रधान के साथ ग्रामीणों ने कलक्ट्रेट पर किया प्रदर्शन

खलीलाबाद ब्लाक के ग्राम पंचायत एकमा की महिला प्रधान के नेतृत्व में कलक्ट्रेट में आए ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया। इन लोगों ने डीएम से कहा कि उनके यहां कुछ लोग पंचायत भवन के निर्माण कार्य में बाधा पहुंचा रहे हैं। ज्ञापन सौंपकर कार्रवाई किए जाने की मांग की।

पंचायत भवन बनाने में व्‍यक्ति डाल रहा बाधा

खलीलाबाद ब्लाक के ग्राम पंचायत एकमा की प्रधान अंजू देवी के नेतृत्व में तमाम ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया। इन लोगों ने कहा कि उनके यहां बंजर की भूमि में पंचायत भवन बनना है। गांव के एक व्यक्ति इस कार्य में बाधा डाल रहे हैं। गांव स्थित भूखंड संख्या 387 का क्षेत्रफल 686 एअर है । इस नंबर के दो बिस्वा दस धुर भूमि पर इस व्यक्ति ने दीवानी न्यायालय में वाद दायर किया हुआ है। जबकि शेष भूमि से इनका कोई मतलब नहीं है । इसके बाद भी वह पंचायत भवन के निर्माण में बाधा डाल रहे हैं।

Edited By: Rahul Srivastava