सिद्धार्थनगर, जागरण संवाददाता। दशहरा त्योहार को लेकर सतर्कता दिखा रही जनपद की एसओजी व पुलिस टीम के हाथ पटाखों का अवैध भंडार लगा है। नगर के आब्दी तिराहे के पास स्थित रहमान फॉयर हाउस के गोदाम से मिले छमता से अधिक पटाखों को जब्त कर टीम आवश्यक कार्रवाई में जुट गई है।

ऐसे हुआ खुलासा

एसओजी प्रभारी जीवन त्रिपाठी टीम के साथ बांसी में संदिग्ध व्यक्ति की तलाश में लगे हुए थे। उसी समय उन्हें सूचना मिली कि राप्ती नदी के किनारे से होकर जाने वाले बांसी -पनघटिया बांध स्थित आब्दी तिराहे के पास भारी मात्रा में पटाखों का अवैध भंडारण किया गया है। वह इसका पता लगाने रहमान फायर हाउस पर गए जहां दुकान के प्रबंधक मुजाहिद्दीन ने उन्हें अपना लाइसेंस दिखाने से आनाकानी करने लगे। उन्होंने इस पर प्रशासन व कोतवाली पुलिस को सूचना देकर मौके पर उन्हें बुला लिया।

450 किलो भण्डारण का ही बना है लाइसेंस मिला, 700 किलो से अधिक पटाखा

उनके सामने रहमान फायर हाउस के लाइसेंस की जांच की गई । जिसमें 450 किलो पटाखे का भंडारण ही किया जाना पाया गया। जबकि गोदाम को खुलवाकर जांच की गई तो उसमें कि 450 किलो की जगह सात सौ किलो से अधिक पटाखा बरामद हुआ। सभी को माल वाहन पर लाद पुलिस टीम थाने ले जाकर अग्रिम कार्रवाई में जुटी है। रहमान फायर हाउस के प्रबंधक मुजाहिद्दीन का कहना है कि यह पटाखा हमारा नहीं बल्कि किसी दूसरे का है। जबकि मौके पर मौजूद एसओजी प्रभारी जीवन त्रिपाठी ने बताया कि पटाखा जो भी बरामद हुआ है वह रहमान फायर हाउस के गोदाम से हुआ है। इस कारण प्रथम दृष्टया दोषी तो वहीं है।

पुल‍िस की कार्रवाई से व्‍यापार‍ियों में हड़कंप

फिलहाल कोतवाली पर तहसीलदार अरुण कुमार के नेतृत्व में पकड़े गए पटाखों की तौल करा उसकी सूची बनाई जा रही है। इस कार्रवाई से पटाखा कारोबारियों में हड़कम मचा हुआ है।

Edited By: Pradeep Srivastava