कुशीनगर: सदर कोतवाली पुलिस ने बुधवार की रात पडरौना रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन व अन्य प्रमुख स्थलों पर पहुंच सुरक्षा व्यवस्था का हाल जाना। इस दौरान संदिग्ध हाल में मिले युवकों से कड़ी पूछताछ की गई। पुलिस ने इन युवकों के अभिभावकों से बातचीत की तब जाकर उन्हें जाने दिया गया।

कोतवाल अनुज कुमार सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम रात आठ बजे बस स्टेशन पहुंची। वहां संदिग्ध हाल में दिखे दो युवकों से पुलिस ने नाम, पता जानने के बाद वहां खड़े होने का कारण पूछा। ठीक जवाब न मिलने पर कोतवाल ने युवकों के अभिभावकों से बात की। उनके कहने पर पुलिस ने उन्हें जाने दिया। वहां से पुलिस सुभाष चौक पहुंची। भीड़भाड़ देख पुलिस ने लोगों से सुरक्षा को लेकर सजग रहने को कहा। मेन रोड, स्टेशन रोड होते हुए टीम रेलवे स्टेशन पहुंची। वहां इधर-उधर घूम रहे युवकों से कड़ाई से पूछताछ की गई। पुलिस ने चेताया कि मनबढ़ युवकों की खैर नहीं है। नगर में पुलिस टीम भ्रमण कर इन पर नजर रख रही है। छेड़छाड़ या अन्य किसी तरह की घटना होने पर इनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। कोतवाल ने कहा कि नागरिकों की सुरक्षा को लेकर पुलिस पूरी तरह मुस्तैद है।

शिकायत पर पुलिस ने रोका निर्माण कार्य

रामकोला थाना क्षेत्र के खोटही पुलिस चौकी के समीप गांव के दर्शन यादव का घर हैं। वह मंगलवार से अपनी भूमि पर पक्का निर्माण करा रहे थे। बुधवार की सुबह सड़क की भूमि पर निर्माण कराने लगे तो कौशिल्या, जमादीन, निशार, हरिकेश, उमेश, नगीना, कमलेश आदि ने एसडीएम को प्रार्थना पत्र सौंप कार्रवाई की मांग की। उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को भी दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने सड़क की तरफ हो रहे निर्माण कार्य को बंद करा दिया। लोगों का कहना था कि 20 वर्ष पहले इस भूमि के लिए प्रधान व गांव के गणमान्य लोगों की मौजूदगी में समझौता हुआ था, लेकिन दर्शन समझौते से मुकर रहे हैं। अतिक्रमण होने से सड़क पतली हो जाएगी और ट्रैक्टर ट्राली का आवागमन बाधित हो जाएगा।

Edited By: Jagran