गोरखपुर, जेएनएन। लॉकडाउन में नियमों को धताकर बताकर इफ्तार पार्टी का आयोजन करना आयोजक समेत अन्य लोगाें को मंहगा पड़ा। करीब 16 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, जबकि शेष की तलाश की जा रही है।

आयोजक की तरफ से सोशल मीडिया पर फोटो वायरल

इफ्तार पार्टी का आयोजन सिद्धार्थनगर जनपद के इटवा थानांतर्गत ग्राम भावपुर मीरा में दो दिन पहले किया गया था। जबकि लॉकडाउन व धारा 144 के चलते इस तरह के कार्यक्रम की मनाही है। प्रधान की ओर से आयोजित इस पार्टी के आयोजनकर्ता प्रधान पुत्र मो. अनीस हैं, जिन्होंने कार्यक्रम संबंधित फोटो खुद ही सोशल मीडिया पर पोस्ट की थी।

हरकत में आई पुलिस, रात में हुई गिरफ्तारी

फोटो वायरल होने के बाद प्रशासन हरकत में आया। दर्जनों के विरुद्ध आइपीसी की विभिन्न धाराओं सहित महामारी व आपदा अधिनियम के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया। पुलिस क्षेत्राधिकारी श्रीयश त्रिपाठी के नेतृत्व में प्रभारी निरीक्षक सत्येन्द्र कुंवर, वरिष्ठ उपनिरीक्षक रामेश्वर यादव अन्य पुलिस टीम पूरी रात आरोपितों की गिरफ्तारी में लगी रही।

इनकी हुई गिरफ्तारी

गिरफ्तार व्यक्तियों में  आयोजनकर्ता मो. अनीस सहित सहबान, रमजान अली, मुसाहिद, शाहिद, नूरी बाबू, अमीरूल हसन उर्फ सोनू, सरफराज, मो. चांद, अजादार हुसैन, निजामुद्दीन, तौसीफ रजा, जाहिद अली, मोइउद्दीन, गुलाम रजा व जज्जू खान शामिल हैं।

अन्‍य की गिरफ्तारी में लगी टीम

पुलिस क्षेत्राधिकारी श्रीयश त्रिपाठी ने बताया कि लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए आयोजन किया गया था। मामले में 16 लोगों की गिरफ्तारी हुई है जो सभी जेल भेज दिए गए हैं। अन्य आरोपितों की तलाश में पुलिस टीम जुटी हुई है।

ईद का पर्व लाकडाउन के बंदिशों के बीच  हर्षोल्लास एवं परंपरागत रुप से मनाया गया। मुस्लिम धर्मावलंबियों ने  अपने घरों में ही सुबह की नमाज अदा कर सलामती की दुआ मांगी। मस्जिदों में वहां के मौलवी समेत चंद लोगों ने नमाज अदा किया। इस दौरान  कोरोना संक्रमण को लेकर लागू आवश्यक नियमों का पालन करते हुए दूर से ही एक-दूसरे को मुबारकबाद दी। इस अवसर पर पुलिस  का हरेक खास स्थानों पर चौकसी रहा।समाचार लिखे जाने तक थाना क्षेत्र  के प्रायः सभी ग्राम पंचायतों में ईद शांति के साथ निपट गया।

Posted By: Satish Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस