गोरखपुर, जेएनएन। दैनिक जागरण के कार्यक्रम प्रश्न प्रहर में गुरुवार को मौजूद रहे डीआइजी राजेश मोदक से लगातार सवाल पूछे जाते रहे और वह धैर्य से हर फरियादी की समस्या सुनकर उसका समाधान बाते रहे। सवाल-जवाब के क्रम में उन्होंने सभी को उनकी समस्या का निदान कराने का भरोसा दिया। सबसे अधिक थाने में सुनवाई न होने की शिकायतें आईं। भूमि संबंधी विवाद और वाहन चोरी के मुद्दे भी खूब उठे। कुछ लोगों ने सड़क पर अतिक्रमण की वजह से जाम लगने की समस्या भी उठाई। 

सवाल - पारिवारिक भूमि का अभी तक बंटवारा नहीं हुआ है, लेकिन कुछ लोग परिवार के दूसरे सदस्यों को बहका कीमती जमीन अपने नाम करा ले रहे हैं। जायदाद बिकने के बाद हमे पता चलता है। शिकायत के बाद भी स्थानीय पुलिस इसे रुकवा नहीं रही है। - ममता दूबे, दुबौली, बरहज, देवरिया

जवाब - जमीन जिसके नाम से है उसने यदि किसी के नाम से जमीन लिख दी होगी तो कुछ नहीं किया जा सकता है। यदि ऐसा नहीं हुआ होगा तो आप बरजह थानेदार से मिलकर पूरी बात बताएं, जो संभव हो सकेगा वह आपकी मदद करेंगे।

सवाल - कई बार प्रार्थना पत्र देने के बाद भी जाति प्रमाण पत्र नहीं बन रहा है। - राहुल, अहिरौली, खुखुंदू, देवरिया

जवाब - जाति प्रमाण पत्र पुलिस का विषय नहीं है, लेकिन आपकी समस्या के संबंध में मैं जिलाधिकारी से बात करूंगा। वह आपकी समस्या का समाधान जरूर करेंगे।

सवाल - कुशीनगर पुलिस चोरी गए वाहनों की बरामदगी नहीं कर रही है। मुकदमे में फाइनल रिपोर्ट लगाकर अपनी जिम्मेदारी पूरी मान ले रही है। - मिथिलेश मणि त्रिपाठी, रामकोला, कुशीनगर

जवाब - चोरी के वाहनों के बरामदगी का औसत वाकई में बेहद कम है। इसके लिए अभियान शुरू किया गया है। बहुत जल्दी इसका परिणाम नजर आने लगेगा।

सवाल - सिसवा बाजार में एक व्यक्ति ने फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनवाकर सफाई कर्मी की नौकरी हासिल कर ली है। शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं हो रही। - विजय प्रताप शुक्ल, सिसवां बाजार, कोठीभार, महराजगंज

जवाब - डीपीआरओ और जिलाधिकारी से इसकी शिकायत करें, कार्रवाई अवश्य होगी।

सवाल - महुआ डाबर की रहने वाली अर्चना तिवारी की शादी तिवारीपुर थाना क्षेत्र में हुई है। दो साल पहले बेटी होने के बाद ससुराल वालों ने उन्हें घर से निकाल दिया। थाने में शिकायत के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। - उर्मिला दुबे, महुआ डाबर, खजनी, गोरखपुर

जवाब - इस मामले में किसी तरह की कार्रवाई से जरूरी है कि परिवार को जोडऩे की कोशिश की जाय। आप परिवार परामर्श केंद्र में प्रार्थना पत्र दें। विवाहिता के साथ यदि घरेलू ङ्क्षहसा या अन्य किसी तरह का उत्पीडऩ हुआ हो तो आप तहरीर दें कार्रवाई अवश्य होगी।

सवाल - 13 नवंबर 2019 को मेरे साथ मारपीट हुई थी। तभी से थाने का चक्कर लगा रहा हूं। कार्रवाई नहीं हो रही है। - जयराम शाही, हाटा, कुशीनगर

जवाब - इस संबंध में मैं थानेदार से बात करूंगा। आप थानेदार से मिलकर तहरीर दें। कार्रवाई अवश्य होगी।

सवाल - मेरी जमीन पर भू माफिया कब्जा करने का प्रयास कर रहे हैं। पुलिस भी उन्हीं की मदद कर रही है। - सुभाष चंद, बेतियाहाता, कैंट

जवाब - यदि थाने की पुलिस नहीं सुन रही है तो, भूमि से संबंधित अभिलेख के साथ आप मुझसे मिलें। भू माफिया पर कार्रवाई जरूर होगी।

सवाल - कोटे की दुकान से काला बाजारी करने की शिकायत करने पर कुछ लोगों ने मेरे पिता ब्रह्मानंद त्रिपाठी को मारपीट दिया है। मुकदमा नहीं दर्ज हो रहा है। - अश्वनी कुमार, झुडिय़ा, खजनी

जवाब - मारपीट हुई है तो कार्रवाई अवश्य होगी। आप थानेदार से जाकर मिलें। मैं उन्हें कार्रवाई करने के लिए निर्देशित करूंगा।

सवाल - भूमि विवाद में पट्टीदारी के लोग मेरे साथ आए दिन मारपीट करते रहते हैं। पुलिस कोई कार्रवाई नहीं करती। - राधिक देवी, निचलौल, महराजगंज

जवाब - पीडि़त को न्याय दिलाना पुलिस की जिम्मेदारी है। आप अपनी फरियाद लेकर थानेदार से मिलें। कार्रवाई के लिए उनको निर्देश दिया जाएगा।

सवाल - मेरे गांव में चकबंदी चल रही है। मैने खेत में घर बनवा रखा है। लेखपाल ने मेरे घर के बीच से रास्ता निकाल दिया है। उसकी जगह रास्ते के लिए घर के बगल से दूसरी जमीन दे रहा हूं लेकिन तहसील में सुनवाई नहीं हो रही है। - मोतीलाल, रामलक्षन, रुद्रपुर, देवरिया

जवाब - वैसे तो यह मामला राजस्व विभाग का है, लेकिन आपकी समस्या गंभीर है। इसके समाधान के लिए मैं, देवरिया के जिलाधिकारी बात कर लूंगा। आप उनसे मिलिए। वह मदद करेंगे।

सवाल- हाटा उपनगर में खुलेआम गैस की रीफिलिंग हो रही है। सब कुछ जानते हुए जिम्मेदार इसे रुकवा नहीं रहे हैं। - मंकेश तिवारी, हाटा, कुशीनगर

जवाब - यदि ऐसा हो रहा है तो यह गंभीर है। इस संबंध में जिलापूर्ति अधिकारी और स्थानीय पुलिस से बात करूंगा। रीफिलिंग नहीं होने दी जाएगी।

सवाल - दबंगों ने मारपीट कर मेरी जमीन पर कब्जा कर लिया है। 26 नवंबर 2018 से ही मैं घर से बाहर रह रहा हूं। जिलाधिकारी व उप जिलाधिकारी, स्थानीय पुलिस को कई बार जमीन पर कब्जा दिलाने का आदेश दे चुके हैं, लेकिन सुनवाई नहीं हो रही है।

जवाब - जमीन से संबंधित अपने अभिलेख लेकर आप एसपी देवरिया से मिलें। वह आपकी समस्या का समाधान करेंगे।

सवाल - जमीन बैनामा कराया था। खारिज-दाखिल भी हो गया है। मेरे पक्ष में लेखपाल की रिपोर्ट भी है, लेकिन जमीन बेचने वाला कब्जा नहीं छोड़ रहा है।

गुड्डू सिंह, भीटी भड़ौली, खुखुंदू, देवरिया

जवाब - यदि आपने बैनामा कराया और लेखपाल ने रिपोर्ट दी है तो जमीन पर आपका कब्जा होना चाहिए। आप थानेदार मुझसे हुई बात का हवाला देकर मिलिएगा। वह आपकी समस्या का समाधान कराएंगे।

सवाल - लार पुलिस बाइक चोरी का मुकदमा नहीं दर्ज कर रही है। - रविंद्र पाल, लार, देवरिया

जवाब - आप थाने जाकर तहरीर दीजिए। मुकदमा दर्ज हो जाएगा।

सवाल - जुलाई 2018 में छेड़खानी का मुकदमा दर्ज हुआ। बिना 164 का बयान दर्ज कराए ही पुलिस ने चार्जशीट दाखिल कर दी। इसकी शिकायत पर पूर्नविवेचना का आदेश हुआ है, लेकिन अभी तक चार्जशीट दाखिल नहीं हुई। - विनोद सिंह, रेल विहार, चिलुआताल

जवाब - महिलाओं से जुड़े अपराध में त्वरित कार्रवाई का निर्देश है। इस मुकदमे की स्थिति के बारे में मैं पता कराउंगा।

सवाल - वर्ष 2014 में मैने एक महिला से जमीन रजिस्ट्री कराई थी। उसने अपने बेटे की जगह दूसरे को खड़ाकर जमीन बैनामा कर दिया। अब इस मामले में मेरे विरुद्ध धोखाधड़ी और जालसाजी का मुकदमा दर्ज हो गया। मेरा रुपया भी डूब गया और पुलिस मुझे खोज भी रही है। मेरे साथ इंसाफ नहीं हो रहा है।

सीमा बाला, चौरीचौरा

जवाब - आपके साथ धोखा हुआ है। पुलिस आपकी मदद करेगी। अपनी समस्या लेकर आप गोरखपुर एसएसपी से मिलें। मैं उनको इसका समाधान करने के लिए निर्देशित कर दूंगा।

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस