गोरखपुर, जेएनएन। सिद्धार्थनगर जनपद में स्थित नौगढ़ रेलवे स्टेशन अब सिद्धार्थनगर के नाम से जाना जाएगा। इससे देश विदेश से आने वाले लोगों को काफी सहूलियत मिलेगी। जिले की स्थापना के बाद से ही नौगढ़ रेलवे स्टेशन का नाम बदलने की मांग की जा रही थी। प्रदेश सरकार द्वारा नाम बदलने को लेकर भेजे गए प्रस्ताव पर भारत सरकार ने अपनी सहमति जताते हुए नाम बदलकर भेजने को कहा है।

बीते लोकसभा चुनाव में जागरण के जनता घोषणा पत्र में यह मुद्दा शामिल था। जागरण परिवार की तरफ से सांसद जगदंबिका पाल से इस पर पहल करने की मांग की गई थी। जिसका नतीजा रहा कि सांसद ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और रेल मंत्री पीयूष गोयल से मिलकर आग्रह किया था। वर्ष 1988 में जिले की स्थापना हुई तो भगवान गौतम बुद्ध की क्रीड़ा स्थली होने के कारण उनके बचपन के नाम सिद्धार्थ पर जिले का नामकरण सिद्धार्थनगर किया गया। जिला मुख्यालय आने के लिए नौगढ़ रेलवे स्टेशन है।

स्टेशन का नाम नौगढ़ होने के कारण बाहर से आने वालों को काफी परेशानी उठानी पड़ती थी। भारत से कहीं पर भी सिद्धार्थनगर के नाम से टिकट नहीं मिल पाता था। ऐसे में लोगों का सिद्धार्थनगर पहुंचना मुश्किल होता था। तभी तक स्टेशन का नाम बदलने की मांग की जाती रही है। प्रदेश के योगी सरकार ने अगस्त में नाम बदलने का प्रस्ताव भारत सरकार को भेजा था। जिस पर भारत सरकार ने विभिन्न विभागों ने आपत्ति मांगी थी। किसी विभाग द्वारा कोई आपत्ति नहीं देने पर भारत सरकार ने प्रदेश सरकार को नाम बदलने का सर्कुलर प्रदेश सरकार को भेज दिया।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप