गोरखपुर, जेएनएन। आम बजट के पांचवें दिन मंत्रालय ने रेल में निर्धारित धन को मदवार आवंटित कर दिया। पूर्वोत्तर रेलवे के लिए भी विभिन्न मदों में धन आवंटित हो गया है। समग्र विकास के लिए लगभग 26 सौ करोड़ मिला है। हालांकि, अभी स्पष्ट नहीं हो पा रहा है कि पिछले बजट के सापेक्ष कितना धन मिला है। जानकारों का कहना है कि कई अन्य मद हैं जिसका उल्लेख नही है। इसबार लगभग तीन सौ करोड़ अधिक बजट आवंटित होने की संभावना है। पिछली बार कुल करीब 29 सौ करोड़ का बजट था। फिलहाल, मंत्रालय ने गोरखपुर के रास्ते कुसम्ही और डोमिनगढ़ के बीच बिछने वाली तीसरी लाइन पर ध्यान दिया है। इसके लिए 126 करोड़ मिला है। इससे निर्माण कार्य में तेजी आएगी। ट्रेनें भी कैंट आदि में बिना वजह नहीं खड़ी होगी। इसके अलावा भटनी- औंडि़हार के बीच विद्युतीकरण के लिए 50 करोड़ मिला है। यह कार्य भी लगभग पूरा ही है। जल्द ही गोरखपुर-देवरिया-भटनी-मऊ-वाराणसी-इलाहाबाद रूट पर भी इलेक्ट्रिक ट्रेनें दौडऩे लगेंगी।

पूर्वोत्तर रेलवे को इन मदों में मिला धन

आमान परिवर्तन - 220 करोड़

दोहरी लाइन - 1400 करोड़

नई लाइन निर्माण - 240 करोड़

संरक्षा कार्य (आरओबी व अंडर ब्रिज) 235.72 करोड़

रेलपथ नवीनीकरण - 250 करोड़

यात्री सुविधाएं - 119 करोड़

कर्मचारी कल्याण - 26.48 करोड़

आमान परिवर्तन की बढ़ेगी रफ्तार

सीतापुर-लखीमपुर के रास्ते लखनऊ- पीलीभीत - 100 करोड़

इंदारा-दोहरीघाट - 100 करोड़

पीलीभीत-शाहजहांपुर- 20 करोड़

इन रूटों पर होगा दोहरीकरण

औंडि़हार-मंडुआडीह - एक करोड़

छपरा-बलिया- 124 करोड़

गाजीपुर सिटी-औंडि़हार- 43 करोड़

रोजा-सीतापुर कैंट-बुढ़वल- 460 करोड़

वाराणसी-माधोसिंह-इलाहाबाद- 150 करोड़

फेफना-इंदारा व मऊ-शाहगंज - 50 करोड़

डोमिनगढ़-गोरखपुर-छावनी-कुसम्ही तीसरी लाइन - 126 करोड़

बुढ़वल-गोंडा तीसरी लाइन - 120 करोड़

औंडि़हार-जौनपुर - 50 करोड़

इन रेलमार्गों का पूरा होगा विद्युतीकरण

भटनी-औंडि़हार के बीच विद्युतीकरण के लिए 50 करोड़

मल्हौर-डालीगंज के लिए 101 करोड़

यहां बिछेगी नई रेल लाइन

ताड़ीघाट-गाजीपुर-मऊ के लिए 240 करोड़।

सहजनवां-दोहरीघाट नई रेल लाइन ठंडे बस्ते में

बहुप्रतीक्षित सहजनवां-दोहरीघाट नई रेल लाइन ठंडे बस्ते से इसबार भी बाहर नहीं निकल पाई है। जबकि, कैबिनेट ने इस नई रेल लाइन की मंजूरी दे दी है। लेकिन इस रेल लाइन के लिए अलग से कोई बजट नहीं मिला है। खलीलाबाद-बहराइच व आनंदनगर-महराजगंज-घुघली व बौद्ध सर्किट आदि अन्य रेल लाइनों के लिए भी कुछ खास नहीं है। बजट में इसबार संरक्षा पर विशेष जोर दिया गया है। इसके लिए 235.72 करोड़ प्रस्तावित है। पिछले बजट में इस मद में सिर्फ 176.63 करोड़ ही मिले थे। दैनिक जागरण ने बजट में संरक्षा और सुरक्षा पर रहेगा जोर को प्रमुखता से उठाया था।

Edited By: Pradeep Srivastava