गोरखपुर, जेएनएन। शहर के मियां साहब इस्लामिया इंटर इन दिनों पूरी तरह डेंगू की चपेट मेंं है। कॉलेज के एक प्रवक्ता, एक परिचर और 11 छात्र समेत 13 लोगों में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जब इंटर कालेज परिसर में जांच की तो वहां आठ स्थानों पर डेंगू के लार्वा पाए गए। कॉलेज में वर्षों का पानी जमा मिला, जिसे लेकर स्वास्थ्य विभाग कॉलेज प्रशासन को नोटिस देने की तैयारी कर रहा है।

जांच करने पहुंची दो टीमें

कॉलेज में डेंगू के प्रकोप की जानकारी जब अपर निदेशक स्वास्थ्य को मिली तो वह हरकत में आ गए। संयुक्त निदेशक डॉ. अरुण गर्ग और कीट विज्ञानी डॉ. वीके श्रीवास्तव के नेतृत्व में एक टीम जांच करने कॉलेज परिसर पहुंची। उधर नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मुकेश रस्तोगी के नेतृत्व में नगर निगम की टीम भी कॉलेज पहुंची। पूरे परिसर की गंभीरता से जांच की गई।

रसायन विभाग के लैब की हुई जांच

कॉलेज के रसायन विभाग के लैब में विशेष जांच की गई, क्योंकि वहां के प्रवक्ता के अलावा कई छात्रों में डेंग की पुष्टि हुई है। लैब के पिछले हिस्से में लगभग ढाई फीट की खाली गैलरी मिली, जहां काई जमी हुई थी और बहुत से ऐसी बोतले पड़ी थीं, जिनका इस्तेमाल लैब में होता है।

बोतलों में डेंगू का मिला लार्वा

जांच हुई तो बोतलों में डेंगू का लार्वा मिला। जांच के क्रम में लैब के पास मौजूद जेनरेटर रूम की जांच हुई तो उसमें भी लार्वा मिला। लैब की छत पर सैकड़ों लीटर बारिश का गंदा जमा पानी देख अधिकारियों के होश उड़ गए और उन्होंने कॉलेज प्रशासन को इंतजाम पर सवाल उठाते हुए लीगल नोटिस जारी करने की बात कही। तत्काल पानी को खाली करने का इंतजाम किया गया। जांच का सिलसिला करीब पांच घंटे चला। सुबह 11 बजे से लेकर दोपहर एक बजे तक नगर निगम की टीम ने जांच की और उसके बाद दो बजे स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची, जो पांच बजे तक रही।

मरीजों के घर जाकर खून का नमूना लेगी स्वास्थ्य टीम

कॉलेज परिसर का निरीक्षण करने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने डेंगू की पुष्टि वाले मरीजों का पूरा डिटेल कॉलेज प्रशासन से लिया। टीम शनिवार को मरीजों के घर जाएगी और उनके खून का नमूना लेगी।

हॉस्टल में भी मिला डेंगू का लार्वा

चूंकि हॉस्टल के छात्रों में भी डेंगू की पुष्टि हुई थी, इसलिए जांच टीम ने वहां भी गई। टीम को हॉस्टल में रखे एक ड्रम में लंबे समय से जमा पानी मिला। जांच हुई तो उसमें भी लार्वा मिला। उसके बाद तो टीम ने पूरे हॉस्टल का मुआयना किया। हर जगह गंदगी मिली। छात्रों ने टीम से सफाई के नाम पर खानापूरी का आरोप लगाया। हॉस्टल में चार छात्रों में डेंगू की पुष्टि होने के बाद बहुत से छात्र हॉस्टल छोड़कर घर चले गए हैं। 

Posted By: Satish Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप