गोरखपुर, जागरण संवाददाता। गोरखपुर मेुं मंगलवार को उमस भरी गर्मी से परेशान लोगों को राहत मिल गई। मंगलवार को मानसून ने गोरखपुर में दस्तक दे दिया। सोमवार को कुछ स्थानों पर बूंदाबांदी हुई थी और मंगलवार को बारिश शुरू हो गई। वर्षा की वायुमंडलीय परिस्थितियां तैयार हो चुकी हैं। मौसम विभाग के अनुसार बुधवार से झमाझम बारिश होगी। गोरखुपर और आसपास के जिलों में भी मानसून सक्रिय हो गया है।

आज से थी बार‍िश का अनुमान

मौसम विशेषज्ञ ने पांच दिन पूर्व ही मंगलवार से वर्षा की संभावना जताई थी। मौसम विशेषज्ञ ने यह भी पूर्वानुमान जताया है कि बुधवार गुरुवार व शुक्रवार को अच्छी वर्षा के आसार हैं। हालांकि मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जताया था कि मंगलवार व बुधवार को गरज चमक के साथ गोरखपुर सहित पूर्वी उत्तर प्रदेश में भारी वर्षा हो सकती है। आसमान में रात से जमे बादल सुबह 5:00 बजे से बरसना शुरू हो गए। रिमझिम फुहारों से लोगों को राहत मिली। गर्मी से बेहाल लोग मौसम का लुत्फ उठाते नजर आए। लोग करीब एक सप्ताह से वर्षा की प्रतीक्षा कर रहे थे।

मौसम विशेषज्ञ कैलाश पांडे ने पूर्वानुमान जताया था कि मंगलवार से बारिश का सिलसिला शुरू हो जाएगा। शुक्रवार तक लगातार अच्छी वर्षा होगी। उन्होंने बताया था क‍ि मंगलवार को हल्की वर्षा व बुधवार से अच्छी वर्षा के आसार हैं। मंगलवार की सुबह न्यूनतम तापमान 27.6 डिग्री सेल्सियस के करीब रहा। मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जताया है कि मंगलवार को दिन का अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस से नीचे रह सकता है। बता दे वर्षा की वायुमंडलीय परिस्थितियां तैयार हो चुकी हैं।

चार साल बाद देर हुआ मानसून

मौसम विज्ञानी ने बताया कि चार साल बाद मानसून आने में इतनी देर हुई है। इससे पहले 2018 में मानसून की दस्तक 27 जून को हुई थी। बीते वर्ष 17 जून का मानसूनी बारिश की शुरुआत हो गई थी। बीते तीन वर्ष में मानसून आने में उत्तरोत्तर देर हुई है। पूर्वी उत्तर प्रदेश में मानसूनी बारिश की आदर्श तिथि 15 जून है।

बीते वर्षों में मानसून आने की तिथि

वर्ष तिथि

2021 17 जून

2020 19 जून

2019 23 जून

2018 27 जून।

बुधवार, गुरुवार व शुक्रवार को हो सकती है झमाझम वर्षा

मौसम विज्ञानी कैलाश पाण्डेय ने पूर्वानुमान जताया है कि मंगलवार को गोरखपुर में कुछ स्थानों पर हल्की से सामान्य वर्षा हो सकती है, जबकि बुधवार से शुक्रवार तक झमाझम वर्षा के आसार हैं। हालांकि मौसम विभाग ने तो मंगलवार व बुधवार को गोरखपुर व आसपास के जिलों में कुछ स्थानों पर भारी वर्षा का अलर्ट जताया है। गरज-चमक के साथ गोरखपुर में भारी वर्षा हो सकती है। बता दें कि पखवारे भर से लोग प्रचंड गर्मी से परेशान देखे जा रहे हैं। सोमवार को भी आंशिक रूप से बादल छाए रहे। इसके चलते तापमान में थोड़ी गिरावट देखने को मिली।

खरीफ की खेती में भी मिलेगी मदद

वर्षा से खरीफ की खेती में जुड़े लोगों को भी मदद मिलेगी। खरीफ की तैयारी में जुटे किसान इस समय वर्षा की आवश्यकता महसूस कर रहे हैं।

जून का औसत अधिकतम तापमान- 36.7

जून का औसत न्यूनतम तापमान- 26.1

तापमान डिग्री सेल्सियस में।

Edited By: Pradeep Srivastava