गोरखपुर, जेएनएन। बीआरडी मेडिकल कॉलेज में इस समय चूहे उधम मचा रहे हैं। स्थिति यह है कि गायनिक विभाग में पांच अल्ट्रासाउंड मशीनें हैं लेकिन चूहों ने चार मशीनों को खराब कर दिया है। सिर्फ एक मशीन से काम चलाया जा रहा है। चूहों से बचने के लिए विभाग ने एक अलग कमरा इस ढंग से तैयार कराया है, जिसमें चूहे न जा सकें। साथ ही मैकेनिक को बुलाकर मशीनों को दिखाया गया। तीन मशीनें बनने के लायक हैं, उनका स्टीमेट बनाया जा रहा है। बनने के बाद मशीनों को नए कमरे में रखा जाएगा।

चूहों ने कुतर दिया तार

गायनिक विभाग की ओपीडी में चूहों की भरमार है। किसी मशीन का चूहों ने तार कुतर दिया है तो किसी मशीन के अंदर घुसकर मल-मूत्र त्याग कर दिए हैं जिससे पैनल खराब हो गया है। ऐसे में विभाग की चल रही एक मात्र मशीन को वार्ड नंबर सात में रख दिया गया है ताकि उसे भी चूहे खराब न कर दें। बार-बार खराब हुई मशीनों और उसमें खर्च हुई बड़ी धनराशि के बाद विभाग ने पहले कमरा सही कराने का निर्णय लिया। इसके लिए 15 नंबर की ओपीडी के बगल में एक कमरे को नये सिरे से तैयार कराया गया। कमरा पूरी तरह तैयार हो चुका है। उसके सारे गैप भर दिए गए हैं। स्टीमेट तैयार होने के बाद मशीनें बन जाएंगी और उसी कमरे में रखी जाएंगी।

चूहों से बचने के लिए ठीक कराया कमरा

गायनिक की विभागध्‍यक्ष डा. बानी आदित्‍या का कहना है कि बार-बार मशीनें चूहे खराब कर रहे थे, उसे बनवाने में भी बहुत पैसा लग रहा था। इसलिए चूहों से बचने के लिए पहले कमरा ठीक कराया गया है। मशीनों को बनवाने के लिए स्टीमेट बन रहा है। शीघ्र ही तीन मशीनें बन जाएंगी। अभी एक मशीन से काम चलाया जा रहा है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021