देवरिया: महर्षि देवरहा बाबा राजकीय मेडिकल कालेज को नेशनल मेडिकल कमीशन की तरफ से मान्यता मिलने के बाद अब एमबीबीएस प्रथम वर्ष में दाखिले की तैयारी शुरू कर दी गई है। नीट का परिणाम एक सप्ताह में आने वाला है। परिणाम आते ही यहां एमबीबीएस में प्रवेश की प्रक्रिया भी शुरू हो जाएगी। इस वर्ष 100 सीटों पर एमबीबीएस में छात्रों का दाखिला किया जाएगा। इसे लेकर मेडिकल कालेज प्रशासन की तरफ से प्रक्रिया तेज कर दी गई है।

दो दिन पूर्व महर्षि देवरहा बाबा राजकीय मेडिकल कालेज की वर्चुअल समीक्षा के दौरान एनएमसी की तीन सदस्यीय टीम ने मानक परखा था। बंद कमरे में सिर्फ मेडिकल कालेज के प्रधानाचार्य ने एनएमसी टीम के अधिकारियों के सवालों का जवाब दिया। ऐसे में सभी जवाब संतोषजनक देने के बाद उत्साह से भरे प्रधानाचार्य व मेडिकल कालेज के प्रोफेसर व डाक्टरों को पूरा भरोसा था कि एनएमसी (नेशनल मेडिकल कमीशन) मान्यता पर मुहर लगा देगी। प्रथम बार एनएमसी की जांच के दौरान मात्र 29 फेकल्टी तैयार था, इस समय 42 फेकल्टी तैयार हो गई है। सीनियर रेजीडेंट की संख्या भी 14 से बढ़कर 20 कर ली गई है। प्रथम एलओपी (लेटर आफ परमिशन) का कार्य पूरा कर लिया गया है। लैब समेत अन्य भवनों की फीनिशिग का कार्य किया जा रहा है। महर्षि देवरहा बाबा राजकीय मेडिकल कालेज के प्रधानाचार्य डा. आनंद मोहन वर्मा ने बताया कि एनएमसी द्वारा मान्यता देने के बाद हम लोग तैयारी में जुटे हैं। नीट की परीक्षा हो गई है। एक सप्ताह के अंदर परिणाम आने वाला है। जैसे ही परिणाम आएगा यहां एमबीबीएस में प्रवेश के लिए छात्र आने लगेंगे। 1815 की जांच रिपोर्ट निगेटिव

जागरण संवाददाता, देवरिया: जिले में कोरोना संक्रमण पर स्वास्थ्य विभाग का काफी हद तक नियंत्रण है। गुरुवार को आई कोरोना जांच रिपोर्ट में 1815 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव रही। सीएमओ डा. आलोक पांडेय ने कहा कि आज एक भी कोरोना की जांच रिपोर्ट पाजिटिव नहीं आई है। कोरोना संक्रमण रोकने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। कोरोना संक्रमण रोकना हम सभी की जिम्मेदारी है। कोविड नियमों का पालन हमें अपने लिए करना है।

Edited By: Jagran