गोरखपुर, सतीश कुमार पांडेय। दारोगा भर्ती की आनलाइन परीक्षा में धांधली करने वाले गिरोह का सरगना शाहपुर क्षेत्र का रहने वाला लेखपाल अंकित श्रीवास्तव उर्फ आकाश है। अपने घर में वह कई साल से फर्जी सेंटर चला रहा था। आनलाइन सेंटर संचालकों की मदद से साफ्टवेयर की मदद से रुपये देने वाले अभ्यर्थी के कंप्यूटर का कमांड लेकर साल्वर से प्रश्न हल कराता था। एसटीएफ की छानबीन में पता चला कि प्रयागराज, पटना के कोचिंग सेंटर में तैयारी करने वाले छात्रों को बुलाकर अपने घर रुकने की व्यवस्था करने के साथ ही उनसे ही प्रश्न हल कराता था।

पिता के साथ मिलकर चलाता था आनलाइन सेंटर

शाहपुर के विष्णुपुरम, भेडि़यागढ़ में रहने वाले लेखपाल अंकित श्रीवास्तव उर्फ आकाश के पिता उमाशंकर लाल पहले तारामंडल के बुद्ध बिहार पार्ट सी में आनलाइन परीक्षा केंद्र चलाते थे।परीक्षा में धांधली की शिकायत के बाद सेंटर को बंद करना पड़ा।इसके बाद अपने पिता की मदद से अंकित ने अपने घर पर ही सेंटर खोल लिया। आनलाइन परीक्षा सेंटर के संचालकों से सांठगांठ करके रुपये लेकर अभ्यर्थियों को पास कराने का ठेका लेने लगा।अंकित के घर की तलाशी में एसटीएफ को दारोगा, टीईटी, रेलवे, सिपाही और एमटीएस की परीक्षा देने वाले 100 अभ्यर्थियों के प्रवेश पत्र मिले हैं।बताया जा रहा है कि इसमें कई लोग सरकारी सेवा में है।इसके अलावा 10 लैपटाप,13 मानीटर, 31 सीपीयू मिले जिनके जरिए साल्वर प्रश्न हल करते थे।

अभ्यर्थी से जमा कराता था मार्कशीट व चेक

अंकित के घर से कई लोगों के मार्कशीट व हस्ताक्षर युक्त चेक मिले हैं। नौकरी दिलाने की बात तय होने पर आधी रकम अंकित जमा करा लेता था। शेष रुपये नौकरी मिलने पर लेता था। गारंटी के तौर पर मार्कशीट व हस्ताक्षर युक्त चेक अपने पास रख लेता था। कब्जे से मिले मार्कशीट व चेक को कब्जे में लेकर एसटीएफ व शाहपुर पुलिस छानबीन कर रही है।

एसटीएफ को देख जलाया प्रवेश पत्र, फेका मोबाइल

लेखपाल अंकित श्रीवास्तव उर्फ आकाश के घर बुधवार की दोपहर एसटीएफ ने शाहपुर पुलिस के साथ छापा डाला। टीम को देखकर आरोपित साक्ष्य को मिटाने में जुट गए।लेखपाल ने घर में मौजूद सैकड़ों प्रवेश को जलाने के साथ ही अपना मोबाइल फोन फेक दिया। लेखपाल के संपर्क में कौन-कौन था यह जानने के लिए पुलिस काल डिटेल की पड़ताल कर रही है।

गिराेह के सदस्‍यों पर होगी गैंगस्‍टर की कार्रवाई

एसएसपी विपिन ताडा ने बताय कि आन लाइन परीक्षा में धांधली करने वाले गिरोह के सरगना व सदस्यों के खिलाफ गैंगस्टर की कार्रवाई होगी।आरोपितों की मदद करने वालों को भी चिन्हित किया जा रहा है।लेखपाल के घर जिन लोगों का प्रवेश पत्र मिला है उनके बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। गलत तरीके से अगर किसी ने नौकरी हासिल कर ली है तो उसके ऊपर भी कार्रवाई होगी।

Edited By: Navneet Prakash Tripathi