गोरखपुर, जागरण संवाददाता। हत्या के आरोप में जिला कारागार में निरुद्ध महिला ने 25 अक्‍टूबर की देर रात बच्‍चे को जन्म दिया है। चिलुआताल थाना के जंगल बहादुर अली सोखपुरवा की रहने वाली अंशु पत्नी दीपचंद को जेल प्रशासन ने जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। जच्‍चा-बच्‍चा स्वस्थ हैं।

अप्रैल 2021 में पुलिस ने भेजा था जेल

हत्या के आरोप में अंशु को पुलिस ने अप्रैल 2021 में जेल भेज था। उस समय वह तीन माह की गर्भवती थी। जेल प्रशासन ने अंशु के लिए महिला बैरक में विशेष व्यवस्था की थी। आवश्यक दवाओं के साथ ही उसे पौष्टिक आहार दिया जा रहा था। देर रात उसे प्रसव पीड़ा होने पर जिला अस्पताल भेजा गया, जहां उसने बेटे को जन्म दिया।

महिला बैरक में बंटी मिठाई

बच्‍चे के जन्म के बाद जेलर ने महिला बैरक में मिठाई बंटवाई। जेलर प्रेम सागर शुक्ला ने बताया कि अंशु को 21 अप्रैल 2021 को कोर्ट के निर्देश पर जेल भेजा गया था। मेडिकल जांच में वह तीन माह की गर्भवती थी। सोमवार को प्रसव पीड़ा होने पर जिला अस्पताल के मैटरनिटी वार्ड में भर्ती कराया गया था, जहां उसने बेटे को जन्म दिया है।

छात्रा को दौडाकर चाकू मारा

दुर्गावाड़ी के पास स्‍कूल से छुटटी के बाद घर लौट रहे हाईस्कूल के छात्र को मनबढ़ युवकों ने घेरकर पीट दिया। बचने के लिए भागा तो दौड़ाकर चाकू से हमला कर दिया। स्थानीय लोगों के सूचना देने पर पहुंचे स्वजन उसे अस्पताल ले गए। छात्र के पिता ने पांच नामजद व छह अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कराया है। कुछ दिन पहले भी मारपीट हुई थी।

दर्जन भर युवकों ने घेरकर किया हमला

आर्यनगर चौबे टोला निवासी आशीष चौबे मेंस पार्लर चलाते हैं। उनका 16 साल का बेटा यश चौबे सरस्वती शिशु मंदिर पक्की बाग में दसवीं कक्षा का छात्र है। स्कूल की छुटटी के बाद वह घर लौट रहा था। आरोप है कि साढ़े तीन बजे के करीब दुर्गावाड़ी के पास दर्जन भर की संख्या में आए युवकों ने उसे घेर लिया और पिटाई कर दी। उनमें से एक युवक ने यश को चाकू मार दिया। घायल यश को हास्पिटल में भर्ती कराया गया है। उसे पीठ में दो जगह चाकू लगा है।प्रभारी निरीक्षक कोतवाली कल्याण सिंह सागर ने बताया कि आरोपितों की तलाश चल रही है।जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Edited By: Navneet Prakash Tripathi