गोरखपुर, जेएनएन। देवरिया के नगर पालिका अध्यक्ष अलका सिंह पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की लोकायुक्त के आदेश पर जांच होगी। डीएम अमित किशोर ने एडीएम वित्त एवं राजस्व की अध्यक्षता में टीम गठित की है, जिसमें एडीएम के अलावा अधिशासी अभियंता जल निगम, अधिशासी अभियंता आरईडी, तहसीलदार सदर व सहायक लेखा एवं वित्त अधिकारी जिला चिकित्सालय सदस्य नामित हैं। टीम 15 दिन के भीतर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी। नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष रामायण राव (अब स्वर्गीय) की लोकायुक्त से शिकायत पर नगर पालिका अध्यक्ष अलका सिंह ने अपना जवाब प्रस्तुत किया था, जिसकी जांच अब प्रशासनिक टीम करेगी। 

इन आरोपों की होगी जांच

स्लेज फार्म की नीलामी, शिवमंदिर से हनुमान मंदिर चौराहा तक सड़क के उत्तर नाला निर्माण कार्य में अनियमितता, अलाव जलाने के लिए लकड़ी खरीद व जलाने में अनियमितता, कैलाशपुरी लेन नंबर दो सीसी रोड से प्रेस्टिज स्कूल के पास गोरखपुर रोड तक सड़क, नाली निर्माण कार्य व कलेक्ट्रेट परिसर में सड़क व कसया बाइपास सड़क का हाट मिक्स प्लांट से नवीनीकरण का खराब गुणवत्ता कार्य, एडीएम प्रशासन की जांच आख्या पर आपत्ति व आपत्ति पर कोई आख्या न दिया जाना, भुजौली कालोनी में कनक बेकर्स सुरेश जायसवाल के मकान से होते हुए हनुमान बिङ्क्षल्डग मैटेरियल तक हाट मिक्स प्लांट से सड़क निर्माण व नाली चौड़ीकरण में भ्रष्टाचार, एडीएम प्रशासन से कराई गई जांच आख्या पर आपत्ति, वर्ष 2018 में बरसात पूर्व नालों की सफाई में अनियमितता करना आदि आरोप लगे हैं।

जांच रिपोर्ट लोकायुक्‍त को उपलब्‍ध कराएंगे

देवरिया के जिलाधिकारी अमित किशोर का कहना है कि जांच समिति गठित की गई है। जांच रिपोर्ट मिलने पर लोकायुक्त प्रशासन को उपलब्ध कराया जाएगा।

अलका सिंह ने कहा-जांच में कुछ नहीं मिला

नगर पालिका परिषद देवरिया की अध्‍यक्ष अलका सिंह का कहना है कि लोकायुक्त को जवाब दे दिया गया था। एडीएम प्रशासन की जांच में कुछ नहीं मिला। डीएम ने फिर जांच टीम गठित की है।

Posted By: Satish Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस