गोरखपुर, जेएनएन। सीएम सिटी के सिविल लाइंस जैसे पॉश इलाके में शोहदों ने कोचिंग से निकल रहीं छात्राओं से सरेआम छेडख़ानी की और विरोध करने पर दो शिक्षकों पर हमला कर उनका सिर फोड़ दिया। छात्राओं के साथ कैंट थाने पहुंचे शिक्षकों की तहरीर पर पुलिस ने मामले का अल्पीकरण कर सिर्फ मारपीट का मुकदमा दर्ज कर छेड़खानी की धारा ही नहीं लगाई।

 नेट, जेआरएफ की तैयारी कराने वाले सिविल लाइंस स्थित कोचिंग सेंटर से छात्राएं निकल कर घर जा रही थीं। कोचिंग सेंटर से कुछ दूर रास्ते में खड़े शोहदों ने उनसे छेड़खानी शुरू कर दी। सहमी छात्राएं शोर मचाते हुए कोचिंग सेंटर में लौट आईं और शिक्षकों को बताया। सौ नंबर पर इसकी सूचना देने के बाद शिक्षक, शोहदों को तलाश करते हुए खुद सड़क पर आ गए।

कुछ दूरी पर खड़े शोहदों से शिक्षकों ने छेड़खानी का विरोध किया तो उन्होंने डंडे और ईंट से उन पर हमला कर दिया। इसमें दो शिक्षकों, रुपेश यादव और विशाल श्रीवास्तव का सिर फट गया। कुछ देर बाद पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन तब तक शोहदे फरार हो चुके थे। कैंट थाने का प्रभार देख रहे एसएसआइ नवीन सिंह ने बताया कि मारपीट का मुकदमा दर्ज किया गया है। विवेचना में छेड़खानी की धारा बढ़ाई जाएगी।

हर समय खड़े रहते हैं शोहदे

कोचिंग सेंटर में पढऩे वाले छात्र और छात्राएं आमतौर से सिटी माल के पास से मुड़कर सिविल लाइंस में आने वाले रास्ते का इस्तेमाल करते हैं। सिटी माल के मोड़ पर चाय और पान की कई दुकानें हैं। इन दुकानों पर बाइक लगाकर खड़े रहने वाले युवाओं की भीड़ लगी रहती है। इनमें से कुछ युवक आती-जाती छात्राओं पर फब्ती भी कसते रहते हैं, लेकिन पुलिस कभी कार्रवाई नहीं करती।

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस