गोरखपुर, जेएनएन। गोरखपुर में राजघाट क्षेत्र के तुर्कमानपुर निवासी मोहम्मद जहीन उर्फ मोनू की पड़ोसी कयामुद्दीन ने पत्नी से रिश्ते रखने पर दो दोस्तों की मदद से हत्या कर दी और शव को नार्मल कब्रिस्तान में दफना दिया। पुलिस का शिकंजा कसता देख उसने घर में फांसी लगा ली। पुलिस ने कयामुद्दीन के दोनों दोस्तों और उसकी पत्नी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपितों की निशानदेही पर पुलिस ने शव बरामद करने के साथ ही घटना में प्रयुक्त बेस बाल की स्टिक, लोहे का सरिया और चाकू बरामद कर लिया है।

तुर्कमानपुर निवासी महताब आलम का पुत्र जहीन उर्फ मोनू 10 सितंबर की रात मुहर्रम में घर से निकला था। तभी से वह गायब था। 12 सितंबर को परिजनों के तहरीर देने पर राजघाट पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज की। इस बीच क्राइम ब्रांच की छानबीन में पता चला कि पड़ोसी कयामुद्दीन की पत्नी जैनब से जहीन के संबंध थे। इसी रंजिश में कयामुद्दीन ने 10 सितंबर की रात में पत्नी से फोन कराकर जहीन को मेवातीपुर में बुलाने के बाद दो दोस्तों की मदद से हत्या कर दी और शव को नार्मल कब्रिस्तान में दफना दिया।

पुलिस ने जैनब को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया था। कुछ घंटे की पूछताछ के बाद उसी दिन उसे छोड़ भी दिया। घर लौटकर जैनब ने पति को बताया कि पुलिस को उन पर शक हो गया है। तभी से कयमुद्दीन को गिरफ्तारी का भय सताने लगा। इस बीच एक सीसीटीवी फुटेज की मदद से पुलिस ने हत्या में शामिल तुर्कमानपुर निवासी सुहेल और बर्फखाना निवासी शिवम किशोर उर्फ गोलू को रविवार को पूछताछ के लिए उठा लिया। इसकी जानकारी होने के बाद कयामुद्दीन ने रविवार को दिन में 11 बजे के आसपास कमरे में फांसी लगा ली।

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस