गोरखपुर, जेएनएन। कुशीनगर जिले के कसया थाना क्षेत्र के गांव बैदौली महुंआडीह में 20 वर्षीय एक विवाहिता की मायके में मौत हो गई। चार दिन पूर्व गंभीर हालत में उसे मायके वाले हरदोई स्थित ससुराल से लाए थे। जिला अस्पताल में इलाज कराकर उसे घर लाया गया, जहां रविवार को मौत हो गई।

ससुरालियों ने लोहे की राड से दागा

मृतका के पिता हरिओम व मां सुरसती ने पति सहित ससुराल के लोगों ने पुत्री को दहेज के लिए लोहे के राड से दागने व मारपीट कर गंभीर रूप से घायल करने का आरोप लगाया है। पुलिस कार्रवाई में जुटी है।

दो साल पहले हुई थी शादी

20 वर्षीय अंशु का दो वर्ष पूर्व वर्ष 2017 में चंसौरा बरौली थाना संडे जिला हरदोई निवासी नन्हेलाल पुत्र ठगई के साथ शादी हुई थी। उसकी 10 माह की एक पुत्री है। उसे दहेज में पर्याप्‍त सामान दिया गया था। बावजूद इसके ससुराल वाले दहेज के लिए हमेशा उत्‍पीडि़त करते थे।

ससुराल से आया था फोन

मृतका की मां का कहना है कि पिछले सोमवार को बेटी के ससुराल से फोन आया कि उसकी हालत गंभीर है। आकर देख लें। वहां जाने पर बेटी मरणासन्न मिली। उसके पूरे बदन को लोहे के राड से दागा गया था। कई स्थानों पर होल हो गया था। सभी ने मिलकर निर्ममता पूर्वक जलाया था। ताकि वह मर जाए। वह ठीक से बोल भी नहीं पा रही थी। उसे यहां लाया गया और जिला अस्पताल में भर्ती कराया। उसकी इलाज चल रही थी। वह ठीक भी हो रही थी। डाक्‍टरों ने कहा कि  बेटी को घर ले जाएं। घर ले जाने के बाद उसकी मौत हो गई। मृतका के माता-पिता ने पति सहित ससुराल पक्ष के लोगों पर पुत्री को प्रताडि़त कर जान से मारने का आरोप लगाया है। एसएचओ ज्ञानेंद्र कुमार राय ने कहा कि अभी तहरीर नहीं मिली है। मिलने पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी। 

Posted By: Satish Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप