गोरखपुर, जागरण संवाददाता। उत्तर रेलवे के मुरादाबाद मंडल के रोजा-बरतारा स्टेशन के बीच दोहीरकरण का कार्य चल रहा है। इसके चलते विभिन्न तिथियों में ट्रेनों का संचालन प्रभावित रहेगा। तीन से छह जनवरी तक 15211 दरभंगा-अमृतसर एक्सप्रेस तथा पांच से आठ जनवरी तक 15212 अमृतसर-दरभंगा एक्सप्रेस निरस्त रहेगी। पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार अलावा कई ट्रेनें मार्ग बदलकर चलाई जाएंगी।

इन ट्रेनों का मार्ग बदला

चार जनवरी को चलने वाली 14009 बापूधाम मोतीहारी-आनन्द विहार टर्मिनस एक्सप्रेस बुढ़वल-लखनऊ-कानपुर सेन्ट्रल-गाजियाबाद के रास्ते।

पांच जनवरी को चलने वाली 15529 सहरसा-आनन्द विहार टर्मिनस एक्सप्रेस बुढ़वल-लखनऊ-कानपुर सेन्ट्रल-गाजियाबाद के रास्ते।

छह को चलने वाली 15621 कामाख्या-आनन्द विहार टर्मिनस एक्सप्रेस बुढ़वल-लखनऊ-कानपुर सेन्ट्रल-गाजियाबाद के रास्ते।

पांच और छह को चलने वाली 15273 रक्सौल-आनन्द विहार टर्मिनस एक्सप्रेस बुढ़वल-लखनऊ-रोजा के रास्ते।

पांच को चलने वाली 12407 न्यू जलपाईगुड़ी-अमृतसर एक्सप्रेस बुढ़वल-लखनऊ-कानपुर सेन्ट्रल-खुर्जा-मेरठ सिटी-सहारनपुर के रास्ते।

पांच जनवरी को चलने वाली 15656 श्रीमाता वैष्णोदेवी कटरा-कामाख्या एक्सप्रेस सहारनपुर-मेरठ सिटी-खुर्जा-लखनऊ-बुढ़वल के रास्ते।

छह जनवरी को चलने वाली 15530 आनन्द विहार टर्मिनस-सहरसा एक्सप्रेस गाजियाबाद-कानपुर सेन्ट्रल-लखनऊ-बुढ़वल के रास्ते।

छह जनवरी को चलने वाली 15910 लालगढ़-डिब्रूगढ़ एक्सप्रेस गाजियाबाद-कानपुर सेन्ट्रल-लखनऊ के रास्ते।

छह जनवरी को चलने वाली 12557 मुज्फ्फरपुर-आनन्द विहार टर्मिनस एक्सप्रेस लखनऊ-कानपुर सेन्ट्रल-गाजियाबाद के रास्ते।

पांच और सात जनवरी को चलने वाली 12558 आनन्द विहार टर्मिनस- मुजफ्फरपुर एक्सप्रेस गाजियाबाद-कानपुर सेन्ट्रल-लखनऊ के रास्ते।

ठंड में अपराध प्रभावित 10 ट्रेनों में बढ़ी चौकसी

जीआरपी ने गोरखपुर अनुभाग अपराध और आवेदन ट्रेनों में चौकसी बढ़ा दी है। एस्कोर्ट में चलने वाले पुलिसकर्मियों के अलावा थाना चौकी प्रभारी भी स्टेशन पर ट्रेन पर पहुंचने पर चेकिंग कर रहे हैं। चिन्हित ट्रेनों की सूची में चौरीचौरा एक्सप्रेस, कृषक, सप्तक्रांति, कुशीनगर, ग्वालियर- बरौनी, अवध, पवन व स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस का नाम है। दिल्ली, मुंबई, प्रयागराज, लखनऊ, ग्वालियर से आने वाली ट्रेनों में ठंड के समय चोरी, जहरखुरानी व लूट की घटना बढ़ने पर अपराध प्रभावित ट्रेनों को चिन्हित कर सुरक्षा बढ़ा दी है।

एस्कोर्ट ड्रयूटी को लेकर कार्ययोजना तैयार की गई है जिसके अनुसार संबंधित ट्रेन में एस्कोर्ट करने वाले पुलिसकर्मियों की संख्या बढ़ा दी गई है।देर रात या भोर में स्टेशन पर ट्रेन के आने पर थाना, चौकी प्रभारी भी जांच कर रहे हैं। गोरखपुर अनुभाग में पहले 70 ट्रेनों में जीआरपी की एस्कोर्ट लगती थी। लेकिन अब यह संख्या 127 हो गई है। एस्कोर्ट में गोरखपुर, देवरिया, भटनी, मऊ, बलिया, आजमगढ़, बस्ती, गोंडा, आनंदनगर, बहराइच व गाजीपुर थाने पर तैनात 600 सिपाही और 50 दारोगा की रोस्टर से ड्यूटी लगती है। एसपी रेलवे अवधेश सिंह ने बताया कि अपराध प्रभावित 10 ट्रेनों में विशेष चौकसी बरती जा रही है।

Edited By: Pradeep Srivastava

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट