गोरखपुर, जेएनएन। गर्मियों में यात्रियों की परेशानी कम करने के लिए पूर्वोत्तर रेलवे ने विशेष व्‍यवस्‍था की है। रेलवे ने गोरखपुर से 22 स्‍पेशल ट्रेनों की व्‍यवस्‍था करने के साथ ही कई ट्रेनों में अतिरिक्‍त कोच लगवा रहा है। रेलवे प्रशासन ने इस बीच दस ट्रेनों में विभिन्न तिथियों और स्टेशनों से शयनयान श्रेणी का एक-एक अतिरिक्त कोच लगाने का निर्णय लिया है।

मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार 15018 दादर एक्सप्रेस में 19 जून को गोरखपुर से तथा 15017 दादर एक्सप्रेस में 21 जून को एलटीटी से अतिरिक्त कोच लगाए जाएंगे। 15050 पूर्वांचल एक्सप्रेस में 19 जून को गोरखपुर और 15047 पूर्वांचल एक्सप्रेस में 20 जून को कोलकाता से तथा 12589 गोरखपुर-सिकंदराबाद एक्सप्रेस में 19 जून को गोरखपुर से और 15067 गोरखपुर-बांद्रा एक्सप्रेस में 19 जून को गोरखपुर से एक- एक अतिरिक्त कोच लगाए जाएंगे। इसके अलावा 22531-22532 छपरा-मथुरा-छपरा एक्सप्रेस में 19 जून को दोनों स्टेशनों से अतिरिक्त कोच लगाए जाएंगे।

कई रूटों पर चल रही हैं स्पेशल ट्रेनें

पूर्वोत्तर रेलवे रूट पर 22 समर स्पेशल गाडिय़ां चल रही हैं। गोरखपुर से चंडीगढ़ के अलावा एलटीटी, बांद्रा, सीएसटी और पुणे के लिए बनकर चल रही हैं। यात्री सुविधानुसार स्पेशल ट्रेनों का लाभ उठा सकते हैं।

गोरखपुर से चलने वाली ट्रेनें

- 04923 गोरखपुर-चण्डीगढ़ स्पेशल 21 और 28 जून को गोरखपुर से रात 10.10 बजे रवाना होकर बस्ती, लखनऊ, मुरादाबाद के रास्ते दूसरे दिन दोपहर 2.28 बजे चंड़ीगढ़ पहुंचेगी। 

- 02010 गोरखपुर-छत्रपति शिवाजी टर्मिनस स्पेशल (सीएसटी) 22, 29 जून व छह जुलाई को गोरखपुर से दोपहर बाद 2.40 बजे से रवाना होकर बस्ती, कानपुर, झांसी के रास्ते दूसरे दिन रात 8.25 बजे सीएसटी पहुंचेगी। शयनयान और साधारण श्रेणी के कोच लगाए जाएंगे।

- 01476 गोरखपुर-पुणे स्पेशल ट्रेन 18 और 25 जून तथा दो जुलाई को गोरखपुर से सुबह 7.25 बजे से रवाना होकर गोंडा, कानपुर, मनमाड़ के रास्ते दूसरे दिन शाम 5.00 बजे पुणे पहुंचेगी। 

 - 09016 गोरखपुर-बांद्रा टर्मिनस स्पेशल 23 व 30 जून को गोरखपुर से रात 9.20 बजे रवाना होकर बस्ती, गोंडा, कानपुर, मथुरा, कोटा, रतलाम के रास्ते तीसरे दिन सुबह 9.02 बजे बांद्रा पहुंचेगी।

- 01024 गोरखपुर-लोकमान्य तिलक टर्मिनस स्पेशल 23 व 30 जून को गोरखपुर से दोपहर बाद 2.00 बजे से रवाना होकर देवरिया सदर, भटनी, वाराणसी, इलाहाबाद, इटारसी, नासिक के रास्ते दूसरे दिन रात 11.55 बजे एलटीटी पहुंचेगी। 

12 तक रास्ता बदलकर चलेगी बरौनी-ग्वालियर एक्सप्रेस

उत्तर रेलवे के बरेली स्टेशन पर निर्माण कार्य चल रहा है। इसके चलते दर्जन भर ट्रेनों का संचलन प्रभावित रहेगा। मुख्य जनसंपर्क अधिकारी के अनुसार 24 जून से 11 जुलाई तक 11123 बरौनी ग्वालियर तथा 25 जून से 12 जुलाई तक 11124 ग्वालियर-बरौनी एक्सप्रेस ऐशबाग के रास्ते चलाई जाएगी। इसके अलावा 15705-15706 कटिहार-दिल्ली-कटिहार हमसफर एक्सप्रेस भी ऐशबाग के रास्ते चलेगी।

अब स्टेशनों पर टिकट भी जांचेंगे कामर्शियल क्लर्क

जरूरत पडऩे पर बुकिंग क्लर्क अब स्टेशन पर टिकट भी जाचेंगे। टिकट कलेक्टर काउंटरों पर बैठकर टिकटों की बुकिंग करेंगे। आवश्यकता पडऩे पर अधिकारियों की फाइलें भी निपटाएंगे। वाणिज्य विभाग अपने हिसाब से कर्मचारियों की तैनाती कर कार्य संपादित करेगा। इसके लिए रेलवे बोर्ड ने टिकट कलेक्टर (टीसी), कामर्शियल क्लर्क और इन्क्वायरी कम रिजर्वेशन क्लर्क (ईसीआरसी) को मर्ज कर दिया है।

रेलवे बोर्ड के दिशा-निर्देश पर पूर्वोत्तर रेलवे में तीनों महत्वपूर्ण पदों को आपस में मर्ज करने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। प्रक्रिया पूरी होने के बाद कर्मियों को प्रशिक्षित किया जाएगा। आगे की नई नियुक्ति भी इसी आधार पर की जाएगी। 

दरअसल, अक्सर स्टेशनों पर टीसी की कमी पड़ जाती है। कभी ईसीआरसी की कमी के चलते टिकटों की बुकिंग प्रभावित होती है। सभी काउंटर नहीं खुल पाते। वहीं दफ्तरों में कामर्शियल क्लर्क पर्याप्त संख्या में मौजूद रहते हैं। इन परिस्थितियों से निपटने के लिए ही बोर्ड ने इस व्यवस्था की शुरुआत की है। इसके तहत संबंधित अधिकारी जरूरत पडऩे पर कर्मचारियों को इधर से उधर कर सकेंगे। फिलहाल, तीनों पदों पर तैनात रेलकर्मियों के काम बंटे हुए हैं। विभागीय जानकारों के अनुसार रेलवे बोर्ड ने पिछले वर्ष ही मर्ज के लिए दिशा-निर्देश जारी कर दिया था, लेकिन पदोन्नति आदि को लेकर मामला फंसा हुआ था।

दो चरण में पूरी होगी प्रक्रिया

मर्ज की प्रक्रिया दो चरणों में पूरी होगी। पहले चरण में टिकट चेकिंग स्टाफ को छोड़कर कामर्शियल स्टाफ और ईसीआरसी को मर्ज किया जाएगा। इसमें चार श्रेणी की पोस्ट बनाई गई है, जिसमें कॉमर्शियल कम रिजर्वेशन क्लर्क, सीनियर कामर्शियल कम रिजर्वेशन क्लर्क, चीफ कामर्शियल कम रिजर्वेशन क्लर्क और कामर्शियल सुपरवाइजर की पोस्ट होगी। सुपरवाइजर लेवल सेवन में रखे जाएंगे।

रेलवे बोर्ड का निर्देश मिला है। मर्ज करने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। दो चरण में प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। कार्य और आसान हो जाएंगे। - पंकज कुमार सिंह, सीपीआरओ, एनई रेलवे

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Pradeep Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप