गोरखपुर, जागरण संवाददाता। रेलवे स्टेशन गोरखपुर के प्लेटफार्म नंबर एक पर एक दिसंबर से रेल लाइन पर मरम्मत कार्य शुरू होगा। इसके चलते एक से 16 दिसंबर तक विभिन्न तिथियों में दर्जनों ट्रेनों का संचालन प्रभावित रहेगा। मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार गोरखपुर-अयोध्या पैसेंजर सहित आठ ट्रेनें निरस्त रहेंगी। इसके अलावा कुछ ट्रेनें आंशिक रूप से निरस्त रहेंगी, कुछ मार्ग बदलकर चलाई जाएंगी।

निरस्त रहने वाली सवारी गाड़ी

  • 05425 गोरखपुर-अयोध्या पैसेंजर एक से 15 दिसंबर तक।
  • 05426 अयोध्या -गोरखपुर पैसेंजर एक से 15 दिसंबर तक।
  • 05447 गोरखपुर-गोण्डा पैसेंजर एक से 15 दिसंबर तक।
  • 05448 गोण्डा- गोरखपुर पैसेंजर एक से 15 दिसंबर तक।
  • 05155 छपरा- गोरखपुर पैसेंजर एक से 15 दिसंबर तक
  • 05156 गोरखपुर- छपरा पैसेंजर दो से 16 दिसम्बर तक।
  • 12538 बनारस-मुजफ्फरपुर एक्सप्रेस पांच से 14 दिसम्बर तक।
  • 12537 मुजफ्फरपुर-बनारस एक्सप्रेस पांच से 14 दिसम्बर तक।

मार्ग बदलकर चलने वाली ट्रेनें

  • 30 नवंबर से 15 दिसंबर तक 02569 डिब्रूगढ़-नई दिल्ली स्पेशल एक्सप्रेस परिवर्तित मार्ग छपरा-फेफना-इंदारा-मऊ-शाहगंज-अयोध्या कैंट-बाराबंकी के रास्ते चलेगी।
  • 01 से 16 दिसंबर तक 02570 नई दिल्ली- डिब्रूगढ़ स्पेशल परिवर्तित मार्ग बाराबंकी-अयोध्या कैंट-शाहगंज-मऊ-इंदारा-फेफना-छपरा के रास्ते।
  • 30 नवंबर से 15 दिसंबर तक 02563 बरौनी़-नई दिल्ली स्पेशल परिवर्तित मार्ग छपरा-फेफना-इंदारा-मऊ-शाहगंज-अयोध्या कैंट-बाराबंकी के रास्ते।
  • 01 से 16 दिसंबर तक चलने वाली 02564 नई दिल्ली- बरौनी स्पेशल परिवर्तित मार्ग बाराबंकी-अयोध्या कैंट-शाहगंज-मऊ-इंदारा-फेफना-छपरा के रास्ते।

रास्ते में रुककर चलने वाली ट्रेनें

  • 01 से 15 दिसंबर तक 05033 गोरखपुर-बढ़नी स्पेशल नकहा जंगल स्टेशन से चलेगी।
  • 01 से 15 दिसंबर तक 05378 नौतनवा-गोरखपुर स्पेशल नकहा जंगल स्टेशन पर रुक जाएगी।

वन-वे से दूर हो गया रेलवे स्टेशन का कैब-वे

यातायात पुलिस कार्यालय तिराहा से धर्मशाला बाजार चौराहा और उससे आगे सड़क मार्ग वन-वे (एकल मार्ग) होने से रेलवे स्टेशन का कैब-वे व पार्सल कार्यालय दूर हो गया है। रेलवे स्टेशन के गेट नंबर सात के सामने सड़क मार्ग पर डिवाइडर होने से यात्री 500 मीटर की अतिरिक्त दूरी तय कर प्लेटफार्म नंबर एक, कैब-वे व पार्सल कार्यालय पहुंचते हैं। अक्सर यात्रियों की ट्रेन भी छूट जाती है। पार्सल ले जाने और ले आने में भी परेशानी होती है।

100 कदम की दूरी तय करने के लिए चलना पड़ता है 500 मीटर

यातायात पुलिस कार्यालय से धर्मशाला बाजार तक डिवाइडर है, उससे आगे सड़क मार्ग को वन-वे कर दिया गया है। यात्रियों को यातायात पुलिस कार्यालय से महज 100 कदम की दूरी पर स्थित गेट पर पहुंचने के लिए 500 मीटर की अतिरिक्त दूरी तय करनी पड़ रही है। पहले यात्री यातायात पुलिस कार्यालय या धर्मशाला बाजार चौराहा से गेट नंबर सात पर पहुंच जाते थे। लोगों की परेशानी बढ़ गई है। स्टेशन जाने वाले ही नहीं, ट्रेनों से उतरने वाले हजारों यात्रियों को भी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

रेल उपभोक्ताओं की परेशानियों को लेकर गंभीर है रेलवे प्रशासन 

यात्रियों और रेल उपभोक्ताओं की परेशानियों को रेलवे प्रशासन ने गंभीरता से लिया है। इस संबंध में स्टेशन डायरेक्टर आशुतोष गुप्ता ने जिलाधिकारी को पत्र लिखा है। पत्र के माध्यम से स्टेशन डायरेक्टर ने जिलाधिकारी को यात्रियों व उपभोक्ताओं की समस्याओं से अवगत कराते हुए गेट नंबर सात के सामने डिवाडर से रास्ता (कट) दिलाने का अनुरोध किया है। ताकि प्लेटफार्म नंबर एक और पार्सल कार्यालय आवागमन करने वाले लोगाें को सहूलियत मिल सके।

Edited By: Pragati Chand

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट