Move to Jagran APP

Vande Bharat: गोरखपुर-आगरा के बीच सेमी हाईस्पीड ट्रेन वंदे भारत की सौगात जल्द, धार्मिक और पर्यटक स्थलों को आपस में जोड़ेगी ट्रेन

Vande Bharat Train News In Hindi रेलवे बोर्ड ने गोरखपुर से आगरा और बनारस से देवघर के लिए तैयार किया सेमी हाईस्पीड वंदे भारत का प्रस्ताव। वाराणसी होते हुए गोरखपुर से प्रयागराज तक चलेगी एक और वंदे भारत एक चल रही अयोध्या के रास्ते। गोमतीनगर से मुंबई और गाजीपुर से सूरत के बीच चलेगी अमृत भारत एनईआर ने तैयार किया प्रस्ताव।

By Jagran News Edited By: Abhishek Saxena Published: Sun, 07 Apr 2024 12:01 AM (IST)Updated: Sun, 07 Apr 2024 12:01 AM (IST)
गोरखपुर से आगरा के बीच चलेगी सेमी हाईस्पीड ट्रेन वंदे भारत

प्रेम नारायण द्विवेदी, गोरखपुर। सेमी हाईस्पीड ट्रेन वंदे भारत अब धार्मिक और पर्यटक स्थलों को आपस में जोड़ेगी। पूर्वांचल व बिहार के लोगों सहित पर्यटकों की सुविधा के लिए रेलवे बोर्ड ने वर्ष 2024 के लिए गोरखपुर से आगरा और वाराणसी से बाबाधाम देवघर के बीच प्रतिदिन एक-एक वंदे भारत चलाने का प्रस्ताव तैयार किया है। प्रस्ताव पर मुहर लगते ही संचालन शुरू हो जाएगा।

loksabha election banner

रेलवे बोर्ड की पहल पर पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन ने गोरखपुर से प्रयागराज के बीच सप्ताह में छह दिन के लिए एक और वंदे भारत ट्रेन चलाने की योजना बनाई है। सेमी हाईस्पीड ट्रेन वाराणसी के रास्ते चलाई जाएगी। अयोध्या व लखनऊ के रास्ते 14 मार्च से ही एक वंदे भारत गोरखपुर से प्रयागराज के बीच चल रही है। 12 मार्च को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अहमदाबाद से गोरखपुर-लखनऊ वंदे भारत का प्रयागराज तक मार्ग विस्तार को वर्चुअल हरी झंडी दिखाई थी।

ये प्रस्ताव भी हुए हैं तैयार

रेलवे बोर्ड के अलावा पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन ने दो चेयरकार तथा तीन स्लीपर वंदे भारत का प्रस्ताव तैयार किया है। इसमें गोरखपुर-प्रयागराज सहित काठगोदाम से नई दिल्ली के लिए चेयरकार वाली वंदे भारत शामिल है। गोरखपुर से नई दिल्ली सप्ताह में तीन दिन, गोरखपुर के रास्ते मऊ से काचीगुड़ा तथा छपरा से आजमगढ़ के रास्ते एलटीटी (मुंबई) के बीच सप्ताह में दो दिन एक-एक स्लीपर वंदे भारत ट्रेन चलाने का प्रस्ताव तैयार किया है।

ये भी पढ़ेंः Wife Swapping Case: 'तुम मेरे दोस्त के साथ सो जाओ, ताकि मुझे'...कैलीफोर्निया में पति ने पत्नी पर बनाया ऐसा दबाव कि...

अमृत भारत एक्सप्रेस का भी प्रस्ताव तैयार

इसके अलावा पूर्वोत्तर रेलवे ने सप्ताह में दो-दो दिन के लिए दो अमृत भारत एक्सप्रेस का भी प्रस्ताव तैयार किया है, जिसमें गोमतीनगर से छत्रपति शिवाजी टर्मिनस (मुंबई) तथा गाजीपुर सिटी से सूरत के बीच वंदे भारत शामिल हैं। रेलवे प्रशासन ने प्रस्ताव के साथ वंदे भारत की एक-एक रैक की मांग भी कर दी है।

ये भी पढ़ेंः Banke Bihari Mandir: भीषण भीड़ के चलते बांके बिहारी मंदिर प्रबंधन ने फिर जारी की गाइड लाइन, दर्शन को न आएं ये श्रद्धालु

रेलवे बोर्ड के नेतृत्व में जल्द ही इन प्रस्तावों को लेकर भारतीय रेलवे स्तर पर सभी जोन के अधिकारियों की बैठक आयोजित की जाएगी। बैठक में प्रस्तावों पर मुहर लगते ही ट्रेनों के परिचालन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। प्रधानमंत्री ने गोरखपुर में सात जुलाई 2023 को पूर्वोत्तर रेलवे की पहली गोरखपुर-लखनऊ वंदे भारत को हरी झंडी दिखाई थी। नौ जुलाई से यह ट्रेन शनिवार को छोड़कर प्रतिदिन चल रही है। 


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.