गोरखपुर, जागरण संवाददाता। हरपुर बुदहट के तेनुआ निवासी व भाजपा नेता परशुराम शुक्ला की मां विमला व उनके बेटे रौनक की हत्या के चार आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। आरोपितों में एक की उम्र 12 वर्ष कम होने के कारण पुलिस ने अभी उसे आरोपित नहीं माना है। पुलिस का कहना है कि उसकी भूमिका की जांच करके आगे की कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने आरोपितों की निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त फावड़े को बरामद कर लिया है। एसएसपी ने दिनेश कुमार ने कहा है कि आरोपितों के विरुद्ध एनएसए की भी कार्रवाई की जाएगी।

दिन में शांत कराकर गई पुलिस, शाम होते ही हत्‍या

परशुराम शुक्ला के स्वजन के मुताबिक सीताराम उनके घर के सामने ही पानी बहाते थे। अब वहां पक्का निर्माण भी करने लगे थे। परशुराम कुछ काम से पंजाब गए थे। उन्होंने आईजीआरएस पर इसकी शिकायत की थी। मंगलवार की दोपहर पुलिस इसकी जांच करने गांव में गई और सीताराम को बुधवार को थाने में हाजिर होने की बात कहकर वह लौट आई थी। इसके बाद ही रात में सीताराम अपने स्वजन के साथ परशुराम के घरवालों पर धावा बोल दिया। परशुराम की मां अपने पोते के साथ बाहर बैठी थीं। इस दौरान आरोपितों ने फावड़े प्रहार करके दोनों की हत्या कर दी। बचाव में आई परशुराम की पत्नी सुषमा व उनकी बेटी पर भी हमलावारों ने प्रहार किया। दोनों का हरपुर में ही निजी नर्सिंग होम में इलाज चल रहा है। वहां उनकी स्थिति खतरे से बाहर बताई जा रही है। पुलिस ने इस मामले में सीताराम सहित पांच व्यक्तियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर मामले की छानबीन में जुटी थी। इस दौरान पुलिस को पता चला कि आरोपित रामगढ़ताल क्षेत्र में निर्माणाधीन मकान में छिपे है। पुलिस ने दबिश देकर आरोपित सीताराम शुक्ला, उसके भाई अंगद शुक्ला, अंगद की पत्नी संगीता, मां उर्मिला को गिरफ्तार कर लिया।

देते ध्यान तो न होती इतनी बड़ी घटना

परशुराम व सीताराम के बीच भूमि विवाद करीब एक वर्ष से था। परशुराम ने इसे लेकर कई प्रार्थना पर भी दिये हैं, लेकिन उसे न ही राजस्व विभाग ने गंभीरता से लिया और न ही पुलिस ने। आईजीआरएस पर शिकायत करने पर पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन उसने किसी पर भी निरोधात्मक कार्रवाई नहीं की। इसका परिणाम रहा कि इतना बड़ी घटना हो गई।

भाजपा जिलाध्यक्ष व किसान मोर्चा के पदाधिकारी भी पहुंचे पीडि़त के घर

भाजपा जिलाध्यक्ष युधिष्ठिर सिंह, महामंत्री डा.आरडी सिंह, महामंत्री राजाराम कन्नौजिया, रामजियावन मौर्या, किसान मोर्चा के क्षेत्रीय अध्यक्ष गोपेश्वर त्रिपाठी, क्षेत्रीय मंत्री लाल जी यादव परशुराम शुक्ला के घर पहुंचकर स्वजन को ढांढस बधाया। उन्होंने घटना की निंदा की। एसएसपी दिनेश कुमार पी का कहना है कि आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। उनके विरुद्ध एनएसए की भी कार्रवाई होगी। एक की उम्र कम होने की वजह से उसके भूमिका की जांच की जा रही है।

Edited By: Satish Chand Shukla

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट