गोरखपुर, जेएनएन। भारत-नेपाल की सोनौली सीमा पर तैनात आव्रजन विभाग की टीम ने जांच के दौरान इंडोनेशिया निवासी एक महिला को हिरासत में लिया। शुक्रवार को विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर कोर्ट प्रस्तुत किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

चेन्‍नई से आई महिला

इंडोनेशिया निवासी महिला चेन्नई से गोरखपुर फ्लाइट से उतरी। वहां से बस पर सवार होकर देर शाम सोनौली पहुंची। नेपाल प्रवेश करने के दौरान आव्रजन विभाग ने जांच के उपरांत फर्जी वीजा पाए जाने पर रोक लिया गया । पूछताछ में उसने अपना नाम रोहाना इमाम साबरी (44) निवासी इंडोनेशिया बनाया।

जांच के दौरान दलाल फरार

महिला के साथ आया दलाल ससेंद नाथ मौका देखकर फरार हो गया। दलाल की तलाश पुलिस ने तेज कर दी है। पूछताछ के दौरान महिला ने बताया कि 2017 से रह रही थी। उसके पास से  28 अगस्त 2018 को दिल्ली से इंडोनेशिया, 28 दिसंबर 2019 को इंडोनेशिया से दिल्ली का वीजा पर फर्जी स्टैंप मिला है।

दलाल की तलाश तेज

प्रभारी निरीक्षक निर्भय सिंह ने बताया कि विदेशी महिला के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया है। साथ ही दलाल की तलाश शुरू कर दी गई है। उन्‍होंने कहा कि दलालों के कारण ज्‍यादातर लोगों के साथ फ्राड हो रहा है।

Posted By: Satish Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस