गोरखपुर, जेएनएन। महराजगंज जिले के कोठीभार थाना क्षेत्र के एक गांव में कक्षा छह की 12 वर्षीय छात्रा से शिक्षक द्वारा दुष्कर्म के मामले में पांच दिनों तक गांव में पंचायत चलती रही। शनिवार को छठे दिन बात नहीं बनी तो मामला थाने पहुंच गया। पुलिस ने पीडि़त के पिता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर आरोपित शिक्षक को गिरफ्तार कर लिया है।

जान से मारने की धमकी भी दी

पीडि़त क्षेत्र के एक निजी विद्यालय में कक्षा छह की छात्रा है। आरोप है कि 10 नवंबर की शाम को गांव के किनारे नहर के रास्ते से आ रही छात्रा को एक अन्य निजी विद्यालय के शिक्षक ने खींचकर उसके साथ दुष्कर्म किया। साथ ही घरवालों को बताने पर जान से मारने की धमकी भी दी। लेकिन घर पहुंची पीडि़त ने परिजनों को आपबीती सुनाई तो परिजन आक्रोशित हो गए और गांव में पंचायत बैठ गई। पांच दिनों तक चली पंचायत में बात नहीं बन सकी और अंत में पीडि़त के पिता ने पुलिस का सहारा लिया।

आरोपी शिक्षक गिरफ्तार

मामला संज्ञान में आते ही कोठीभार के निरीक्षक शुभनारायण दुबे की टीम ने मुकदमा दर्ज करते हुए आरोपित शिक्षक को गिरफ्तार कर लिया। निरीक्षक ने बताया कि पीडि़त पिता की तहरीर पर हिमाचल छपरा निवासी शिक्षक राजकुमार चौहान के खिलाफ पाक्सो एक्ट व एससी-एसटी के तहत केस दर्ज कर गिरफ्तार कर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।

प्रेमी संग मिल पति पर हमला, मुकदमा

उधर, महराजगंज जिले के चौक थाना क्षेत्र के बसवार में प्रेमी संग मिलकर पति पर हमला किए जाने के मामले में चौक पुलिस ने पीडि़त पति की तहरीर के आधार पर पत्नी व प्रेमी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर तलाश में जुट गई है। ग्रामवासी घुरई की पत्नी कांति का गांव के ही एक 22 वर्षीय युवक के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। कांति दो बच्चों की मां है। पति घुरई रोजी-रोटी के सिलसिले में बाहर कमाता था। घर लौटे घुरई पर प्रेमी व उसकी पत्नी ने हमला कर अचेत कर दिया व घर से भाग निकले। स्थानीय ग्रामीणों ने घुरई को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया। इधर चौक पुलिस ने शनिवार को पीडि़त के तहरीर पर पत्नी कांति व प्रेमी गोपाल पर जानलेवा हमले सहित संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। सदर पुलिस उपाधीक्षक देवेंद्र कुमार ने बताया कि जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021