संतकबीर नगर : डीएम दिव्या मित्तल ने जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में सीएमओ डा. इंद्रविजय विश्वकर्मा से पूछा कि वह समिति की अध्यक्ष हैं। उनकी जानकारी के बगैर कैसे 40 संविदा एएनएम की चयन प्रक्रिया पूरी कर ली गई। उन्होंने इसकी पत्रावली तलब की। इससे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों में खलबली मची रही। वह कलेक्ट्रेट सभागार में मंगलवार को बैठक में यह बात कहीं।

डीसीपीएम विनित श्रीवास्तव ने डीएम को बताया कि संविदा पर 40 एएनएम की भर्ती होनी है। इसकी सभी प्रक्रिया पूरी हो गई है। इस पर डीएम ने कहा कि जिस समिति की अध्यक्ष वह स्वयं हैं। उन्हें चयन प्रक्रिया के पूरे होने की जानकारी नहीं मिली। कैसे यह चयन प्रक्रिया पूरी हो गई ? इस बात को सुनते ही स्वास्थ्य विभाग के सीएमओ सहित अन्य अधिकारियों के माथे पर पसीने आने लगे। दो दिन के अंदर पत्रावली प्रस्तुत करें ताकि शासन को सभी तथ्यों से अवगत कराया जाय। इसके बाद उन्होंने जनपद में चल रहे अवैध नर्सिंग होम की जांच के बारे में जानकारी मांगी तो किसी के पास कोई जवाब नहीं था। इस पर डीएम ने सीएमओ से कहा कि यदि कहीं अवैध नर्सिंग होम चलने की शिकायत मिली तो सख्त कार्रवाई होगी और मुकदमा दर्ज करवाया जाएगा । टीम बनाकर ऐसे केंद्रों की जांच करें। इसके बाद संस्थागत प्रसव, सुरक्षा कार्यक्रम, नवजात शिशु टीकाकरण, आशाओं के भुगतान, आशा रिपोर्टिंग, हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर सहित अन्य योजनाओं व कार्यक्रमों के बारे में जानकारी ली। बैठक में एसीएमओ डा. मोहन झा, सीएमएस डा. ओपी चतुर्वेदी, डा. एस रहमान, डा. सियाराम यादव आदि मौजूद रहे ।

Edited By: Jagran